लाइव टीवी

चिदंबरम ने कहा: अब्दुल्ला, मुफ्ती की हिरासत का आधार तैयार करने वालों को करना चाहिए बर्खास्त

News18Hindi
Updated: February 11, 2020, 7:04 AM IST
चिदंबरम ने कहा: अब्दुल्ला, मुफ्ती की हिरासत का आधार तैयार करने वालों को करना चाहिए बर्खास्त
पी चिदंबरम (फाइल फोटो)

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) पुलिस द्वारा तैयार किए गए डोजियर पर सोमवार को निशाना साधते हुए चिदंबरम (Chidambaram) ने कहा कि जिसने भी इन दस्तावेजों को तैयार किया है, उसे बर्खास्त करके कानून पढ़ने भेज देना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2020, 7:04 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम (P. Chidambaram) ने कश्मीरी नेताओं उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती के खिलाफ कठोर जन सुरक्षा कानून (पीएसए) के प्रावधान लगाने के लिए जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) पुलिस द्वारा तैयार किए गए डोजियर पर सोमवार को निशाना साधते हुए कहा कि जिसने भी इन दस्तावेजों को तैयार किया है, उसे बर्खास्त करके कानून पढ़ने भेज देना चाहिए.

गिरफ्तार करने का आधार
जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के लोगों पर प्रभाव, चुनाव बहिष्कार के आह्वान के बावजूद लोगों को मतदान केन्द्रों तक खींच लाने की उनकी क्षमता और किसी भी उद्देश्य के लिए जनता की ऊर्जा का उपयोग करने की क्षमता को पीएसए के तहत उनकी हिरासत का आधार बताया गया है.

उनकी राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) नेता महबूबा मुफ्ती पर देश-विरोधी बयान देने और राज्य में जमात-ए-इस्लामिया जैसे संगठनों का समर्थन करने का आरोप लगाया गया है. यह संगठन गैरकानूनी गतिविधियां (निषेध) कानून (यूएपीए) के तहत प्रतिबंधित है.



पूर्व केन्द्रीय वित्तमंत्री चिदंबरम ने ट्वीट किया, 'जिसने भी उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती को हिरासत में रखने के आधार का दस्तावेज तैयार किया है उसे नौकरी से बर्खास्त करके कानून पढ़ने भेज देना चाहिए.'

महबूबा की बेटी ने लगाए आरोप
उधर महबूबा की बेटी इल्तिजा मुफ्ती ने अपनी मां पर जन सुरक्षा कानून लगाए जाने को लेकर बीजेपी पर निशाना साधा है. इल्तिजा ने आरोप लगाया कि सरकार के डोजियर में महबूबा मुफ्ती की पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) के झंडे पर हरे रंग का जिक्र करते हुए उसे उग्रता दर्शाने वाला बताया गया है. महबूबा की बेटी ने बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा है कि आखिर इतनी ही दिक्कत थी तो बीजेपी ने पहले पीडीपी के साथ गठबंधन कर सरकार क्यों बनाई?

ये भी पढ़ें: जामिया हिंसा: पुलिस ने आगजनी करने वाले आरोपियों पर रखा 1 लाख का इनाम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 11, 2020, 7:04 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर