होम /न्यूज /राष्ट्र /जानिए CJI एनवी रमना ने क्यों कहा- 'दिल्ली आने से पहले सावधान रहने को कहा गया, लेकिन...'

जानिए CJI एनवी रमना ने क्यों कहा- 'दिल्ली आने से पहले सावधान रहने को कहा गया, लेकिन...'

कार्यक्रम के संबोधन में चीफ जस्टिस ने कहा कि दिल्ली आने से पहले उन्हें सावधान रहने को कहा गया था. (फाइल फोटो)

कार्यक्रम के संबोधन में चीफ जस्टिस ने कहा कि दिल्ली आने से पहले उन्हें सावधान रहने को कहा गया था. (फाइल फोटो)

CJI N V Ramana: दिल्ली उच्च न्यायालय बार एसोसिएशन द्वारा गुरुवार को CJI के लिए विदाई कार्यक्रम आयोजित किया गया था. कार् ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

दिल्ली उच्च न्यायालय बार एसोसिएशन द्वारा गुरुवार को CJI के लिए विदाई कार्यक्रम आयोजित की गई थी.
संबोधन में उन्होंने कहा कि दिल्ली आने से पहले मेरे सहयोगियों ने चेतावनी दी थी.
सहयोगियों ने उनसे कहा था कि आपको धरना और हड़ताल की तैयारी करनी चाहिए.

नई दिल्ली. चीफ जस्टिस (CJI) एनवी रमना आज रिटायर होने वाले हैं. दिल्ली उच्च न्यायालय बार एसोसिएशन द्वारा गुरुवार को CJI के लिए विदाई कार्यक्रम आयोजित किया गया था. कार्यक्रम के संबोधन में चीफ जस्टिस ने कहा कि दिल्ली आने से पहले उन्हें सावधान रहने को कहा गया था लेकिन उनके साथ ऐसा कुछ भी नहीं हुआ जिसके लिए उन्हें सावधान किया गया था.

न्यूज एजेंसी पीटीआई के अनुसार CJI ने अपने संबोधन में कहा, ‘मुझे दिल्ली में कभी भी किसी भी हड़ताल या किसी धरने या किसी भी विरोध या किसी अन्य चीज का सामना करने का अवसर नहीं मिला, यह मेरे लिए सबसे बड़ी उपलब्धि है.’ उन्होंने आगे कहा कि दिल्ली आने से पहले मेरे सहयोगियों द्वारा चेतावनी दी गई थी कि आप दिल्ली जा रहे हैं, इसलिए अब आपको धरना और हड़ताल की तैयारी करनी चाहिए. लेकिन मेरे साथ ऐसा कभी नहीं हुआ.

उन्होंने आगे कहा कि दिल्ली जाने से पहले उन्हें “सावधान रहने के लिए” कहा गया था. उन्होंने कहा कि सहयोगियों ने मुझसे कहा था, “वहां के लोग बहुत संस्कारी, जानकार और कहने के लिए बहुत आक्रामक” हैं, लेकिन उन्हें सभी से स्नेह और प्रोत्साहन मिला.

उन्होंने इस बात की ओर भी इशारा किया कि कैसे उनके उथल-पुथल के दिनों में लोग उनके साथ खड़े थे. उन्होंने कहा कि मेरे उथल-पुथल के दिनों में बार एसोसिएशन का प्रत्येक सदस्य विशेष रूप से दिल्ली के सदस्य एकजुटता व्यक्त करते हुए उनके साथ खड़े थे. यहां तक कि उनके समर्थन में लोगों ने प्रस्ताव तक पारित किया था. CJI ने आगे कहा कि उनके दिनों में पुराने जनहित याचिकाकर्ता और वकील काफी अनुशासित थे.

इस कार्यक्रम में सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस कौल, इंदिरा बनर्जी, संजीव खन्ना, एस रवींद्र भट और हिमा कोहली शामिल थे. कार्यक्रम में दिल्ली हाई कोर्ट के सभी पूर्व जजों के साथ-साथ बार एसोसिएशन के सदस्यों के साथ-साथ हाई कोर्ट के जज भी शामिल हुए थे.

उन्होंने सभी का धन्यवाद करते हुए आगे कहा कि सुप्रीम कोर्ट और कॉलेजियम में जजों द्वारा दिए गए समर्थन के लिए मैं उनका धन्यवाद करता हूं.

Tags: CJI NV Ramana, Supreme court of india

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें