कांग्रेस की हार पर बोले रामचंद्र गुहा - अब तक राहुल गांधी के इस्तीफा नहीं देने से हैरान हूं

न्यूज18 की रिपोर्ट के मुताबिक, राहुल गांधी ने 23 मई को बीजेपी के पक्ष में रुझान आने के बाद इस्तीफे की पेशकश की थी. हालांकि, कांग्रेस ने इसका खंडन कर दिया था. अब बताया जा रहा है, कांग्रेस कार्यकारी समिति की बैठक में इस पर चर्चा की जाएगी.

News18Hindi
Updated: May 24, 2019, 8:40 PM IST
कांग्रेस की हार पर बोले रामचंद्र गुहा - अब तक राहुल गांधी के इस्तीफा नहीं देने से हैरान हूं
इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने कहा, राहुल गांधी का ना आत्मसम्मान बचा, ना राजनीतिक कद.
News18Hindi
Updated: May 24, 2019, 8:40 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019 में बीजेपी ने 351 सीटों के साथ ऐतिहासिक जीत दर्ज की. वहीं, कांग्रेस 52 सीटों पर सिमट गई है. इस हार में सबसे ज्यादा किरकिरी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की हो रही है. पिछले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को 44 सीटों से संतोष करना पड़ा था. इस बार भी करारी हार के बाद उनके नेतृत्व पर सवाल उठने लगे हैं. इस बीच इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने भी राहुल गांधी को इस्तीफा देने की सलाह दे डाली है.

कई बार केंद्र की मोदी सरकार पर तीखे हमले करने और सवाल उठाने वाले गुहा ने ट्वीट किया कि वह अब तक कांग्रेस अध्यक्ष पद से राहुल के इस्तीफा नहीं देने से हैरान हैं. उन्होंने लिखा, 'राहुल गांधी की पार्टी ने इस चुनाव में बहुत ही खराब प्रदर्शन किया है. यहां तक कि वह अपनी खुद की अमेठी सीत तक हार चुके हैं. राहुल ने अपना आत्मसम्मान और राजनीतिक कद दोनों ही गंवा दिया है. मैं मांग करता हूं कि कांग्रेस को अब एक नए नेतृत्व की जरूरत है, लेकिन पार्टी के पास वह भी नहीं है.'



मोदी सरकार के आलोचकों में रहे हैं गुहा 

न्यूज18 की रिपोर्ट के मुताबिक, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव के रुझान आने के साथ ही अपने पद से इस्तीफा देने की पेशकश की थी. हालांकि, कुछ ही देर बाद कांग्रेस ने इसका खंडन कर दिया था. अब जानकारी मिल रही है कि 25 मई को होने वाली कांग्रेस कार्यकारी समिति की बैठक में इस पर चर्चा की जाएगी. मोदी के शासनकाल में रामचंद्र गुहा की पहचान सरकार के आलोचकों में होती रही है.

कांग्रेस में लगी है इस्तीफों की झड़ी 

लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद जहां बीजेपी सरकार बनाने की तैयारियों में है. वहीं, कांग्रेस में इस्तीफे का दौर शुरू हो गया है. करारी शिकस्त के बाद यूपी के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर, कर्नाटक प्रदेश अध्यक्ष एचके पाटिल और ओडिशा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष निरंजन पटनायक ने अपना इस्तीफा अलाकमान को भेज दिया है. वहीं, अमेठी के जिला अध्यक्ष ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया है.

अब तक के रुझानों में बीजेपी की अगुवाई वाले एनडीए ने 351 सीटों पर ऐतिहासिक जीत हासिल की है. वहीं, दूसरी तरफ कांग्रेस 52 सीटों पर जीत दर्ज कर पाई. सहयोगियों को मिलाकर यूपीए के हिस्से में 92 सीटें आई हैं, जबकि अन्य दलों के खाते में 102 सीटें आईं.
Loading...

यह भी पढ़ें- खुद को दोहरा रहा है इतिहास, 71 में इसी तरह जीती थीं इंदिरा

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...