आखिर J&K बैंक के चेयरमैन परवेज अहमद के खिलाफ कार्रवाई क्यों हुई?

News18Hindi
Updated: June 10, 2019, 8:52 PM IST
आखिर J&K बैंक के चेयरमैन परवेज अहमद के खिलाफ कार्रवाई क्यों हुई?
श्रीनगर में बैंक मुख्यालय की तस्वीर

पिछले कुछ महीनों में जम्मू-कश्मीर बैंक ने कुछ बड़े लोन जो दिए थे, उनमें नियमों का पालन नहीं किया गया. चेयरमैन पर यह आरोप है कि कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉंसिबिलिटी के तहत जरूरत से ज्यादा पैसा खर्च किया गया.

  • Share this:
(अमित पांडेय)

कुछ दिन पहले भ्रष्टाचार के आरोप में जम्मू-कश्मीर बैंक के चेयरमैन परवेज अहमद जांच एजेंसियों के घेरे में आए थे. उन्हें उनके पद से हटाया गया था और अलग-अलग जांच उनके खिलाफ शुरू की गई थी. बैंक से जुड़े सूत्रों के मुताबिक इसके पीछे कई वजह थी और कई गतिविधियां थी जिस वजह से जांच एजेंसियों को यह कार्रवाई करनी पड़ी. पिछले कई दिनों से जम्मू-कश्मीर बैंक के चेयरमैन जिस तरीके से अपनी गतिविधियां चला रहे थे वह सीधे-सीधे सबके रडार पर आ गए.

बैंक से जुड़े सूत्रों के मुताबिक जम्मू-कश्मीर बैंक के चेयरमैन परवेज अहमद के खिलाफ राज्य के भ्रष्टाचार निरोधक विभाग ने जो कार्रवाई की है उसके पीछे कुछ प्रमुख आधार हैं. महज 15 साल में परवेज अहमद बैंक में सीए से चेयरमैन बन गए जिस बात की जांच की जा रही है. अमूमन इतनी कम अवधि में इतने ऊंचे ओहदे तक पहुंचना मुमकिन नहीं होता. जांच एजेंसियां इस बात का पता लगा रही है कि आखिरकार  परवेज अहमद किन-किन लोगों के संपर्क में थे.

परवेज अहमद पर आरोप है कि उन्होंने गैर-कानूनी तरीके से अपने भतीजे मुजफ्फर और बहू शाजिया की बैंक में नौकरी लगवाई. जिस पद पर उनकी नियुक्ति हुई इन दोनों की ही पात्रता नहीं थी. एक और अहम पहलू जिसको जांच एजेंसियों ने अपना आधार माना है, वह है जम्मू-कश्मीर बैंक की पुलवामा और शोफिया शाखा, जहां से बैंक की गतिविधियां संचालित होती है. यह चेयरमैन की निजी संपत्ति है. इसके अलावा चेयरमैन के दो रिश्तेदार जम्मू-कश्मीर बैंक के एचआर और बोर्ड में हैं. हाल ही में जम्मू-कश्मीर बैंक ने एक कंपनी से डील साइन की थी जिसमें चेयरमैन की बहन काम करती है.

इस बात की भी जांच की जा रही है कि पिछले कुछ महीनों में जम्मू-कश्मीर बैंक के इंटीरियर का काम महज कुछ ही ठेकेदारों को दिया गया जिसकी कीमत करोड़ो तक थी. यह कुछ चुनिंदा फर्म ही थी जो लगातार जे एंड के बैंक के रिनोवेशन और उसके अंदर के मरम्मत का कार्य कर रही थी. आखिर किस आधार पर चेयरमैन के रिश्तेदारों की नियुक्ति हुई और क्यों उन करीबियों की फर्म को ही ठेका बार-बार दिया गया इस बात की जांच की जा रही है.

पिछले कुछ महीनों में जम्मू-कश्मीर बैंक ने कुछ बड़े लोन जो दिए थे, उनमें नियमों का पालन नहीं किया गया. चेयरमैन पर यह आरोप है कि कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉंसिबिलिटी के तहत जरूरत से ज्यादा पैसा खर्च किया गया.

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर राज्य की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा का गठन कुछ महीनों पहले ही हुआ था और तब से यह अपनी नजर जे एंड के बैंक के चेयरमैन पर उनकी गतिविधि के कारण बनाए हुई थी. प्रदेश में आला अधिकारियों के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत की गई यह हाल ही के दिनों में पहली बड़ी कार्रवाई है और इससे यही उम्मीद की जा रही है कि जम्मू-कश्मीर राज्य में भ्रष्टाचार के खिलाफ आने वाले दिनों में सरकार और बड़ा मोर्चा खोलेगी.
Loading...

ये भी पढ़ें: J&K बैंक के चेयरमैन परवेज़ अहमद हटाए गए, बैंक मुख्यालय पर छापेमारी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 10, 2019, 8:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...