मच्छर क्यों चूसते हैं इंसानों का खून? वैज्ञानिकों ने बताई चौंकाने वाली वजह

मच्छर क्यों चूसते हैं इंसानों का खून? वैज्ञानिकों ने बताई चौंकाने वाली वजह
पानी की कमी को पूरा करने के लिए इंसानों या जानवरों का खून चूसते हैं मच्छर (सांकेतिक तस्वीर)

अध्ययन (Study) के मुताबिक, मच्छरों (Mosquito) ने इंसानों का खून पीना इसलिए शुरू किया क्योंकि वो सूखे प्रदेश में रहते हैं. सूखे मौसम में जब मच्छरों को अपने प्रजनन के लिए पानी की जरूरत होती है तो उन्हें पानी नहीं मिलता. इसलिए वह इंसानों का खून चूसते हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. बरसात का मौसम शुरू होते ही मच्छरों (Mosquito) का प्रकोप बढ़ने लगता है. इस मौसम में डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया जैसी जानलेवा बीमारियों का खतरा बढ़ने लगता है. इस मौसम में मच्छर इंसानों के शरीर से खून चूसने के लिए भनभनाने लगते हैं. क्या आपको पता है कि मच्छर इंसानों का खून क्यों चूसते हैं? इसकी खोज जब वैज्ञानिकों (Scientist) ने की तो वह भी वजह जानकर चौंक गए. दरअसल, दुनिया की शुरुआत से मच्छरों को खून चूसने की आदत नहीं थी, ये तो बाद में बदलाव हुआ है.

न्यू जर्सी की प्रिंसटन यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने अफ्रीका के एडीस एजिप्टी (Aedes Aegypti) मच्छरों पर एक अध्ययन किया. ये अध्ययन उन मच्छरों पर किया गया जिनकी वजह से डेंगू, पीला बुखार और जीका वायरस फैलता है. अध्ययन के मुताबिक, मच्छरों ने इंसानों का खून पीना इसलिए शुरू किया क्योंकि वो सूखे प्रदेश में रहते हैं. सूखे मौसम में जब मच्छरों को अपने प्रजनन के लिए पानी की जरूरत होती है तो उन्हें पानी नहीं मिलता. इसलिए वह इंसानों या जानवरों का खून चूसना शुरू कर देते हैं.

इस वजह से मच्छर पीते हैं खून
New Scientist वेबसाइट की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अफ्रीका के मच्छरों में एडीस एजिप्टी मच्छर की कई प्रजातियां हैं और ये सभी प्रजातियां इंसानों का खून नहीं चूसती. इनमें से कुछ मच्छरों की प्रजातियां ऐसी थीं जो अन्य चीजें खा-पीकर अपना गुजारा करती हैं. प्रिंसटन यूनिवर्सिटी की रिसर्चर नोआह रोज बताती हैं कि किसी ने अभी तक मच्छरों की विभिन्न प्रजातियों के खान-पान को लेकर स्टडी नहीं की. हमने अफ्रीका के सब-सहारन रीजन की 27 जगहों से एडीस एजिप्टी मच्छर के अंडे लिए. फिर इनमें से मच्छरों को निकलने दिया. इसके बाद इन मच्छरों को इंसान, अन्य जीव, गिनी पिग जैसे पर लैब में बंद डिब्बों में छोड़ दिया ताकि उनके द्वारा खून चूसने के पैटर्न को समझा जाए. इस अध्ययन में पाया गया कि डीस एजिप्टी मच्छरों की अलग-अलग प्रजातियों के मच्छरों का खान-पान बिल्कुल अलग निकला.





हजारों साल बाद आया मच्छरों में बदलाव
नोआह ने कहा कि ये थ्योरी गलत साबित हुई कि सभी मच्छर खून पीते हैं. दरअसल जिस इलाके में सूखा या गर्मी ज्यादा पड़ती है और पानी की कमी होती है, वहां पर मच्छरों को प्रजनन के लिए नमी की जरूरत होती है. ऐसे में मच्छर पानी की कमी को पूरा करने के लिए इंसानों या जानवरों का खून चूसना शुरू कर देते हैं. मच्छरों में ये बदलाव हजारों साल बाद आया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज