देवेगौड़ा परिवार के साथ नजदीकियां क्यों बढ़ा रहे हैं कर्नाटक के CM येदियुरप्पा

कुमारस्वामी इस समय येदियुरप्पा सरकार पर निशाना साधने से भी बचते दिखाई देते हैं.  (फाइल फोटो)
कुमारस्वामी इस समय येदियुरप्पा सरकार पर निशाना साधने से भी बचते दिखाई देते हैं. (फाइल फोटो)

कहा जा रहा है कि बीजेपी (BJP) और जनता दल सेकुलर (JDS) के बीच गठबंधन को लेकर गंभीर स्तर पर बातचीत चल रही है. वहीं एक अन्य दावा यह भी है कि सीएम येदियुरप्पा (BS Yediyurappa) अपने समीकरण एचडी देवेगौडा (HD Deve Gowda) और एचडी कुमास्वामी (HD Kumaraswamy) से संबंधों को बेहतर कर बीजेपी टॉप लीडरशिप को संदेश देना चाहते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 1, 2020, 5:29 PM IST
  • Share this:
बेंगलुरु. कर्नाटक की राजनीति (Karnataka Politics) में एक नई तरह की आहट सुनाई दे रही है. पुराने प्रतिद्वंद्वी (Old Rivals) कहे जाने वाले कर्नाटक के सीएम बीएस येदियुरप्पा (BS Yediyurappa) और देवेगौड़ा परिवार (Gowdas Family) के बीच नजदीकियों की खबरें आ रही हैं. अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया पर प्रकाशित एक रिपोर्ट का दावा है कि एक समय में सहयोग रह चुके दोनों दल संभवत: फिर से एक बार साथ आ सकते हैं.

बीजेपी टॉप लीडरशिप को संदेश देने की कोशिश!
कहा जा रहा है कि बीजेपी और जनता दल सेकुलर के बीच गठबंधन को लेकर गंभीर स्तर पर बातचीत चल रही है. वहीं एक अन्य दावा यह भी है कि सीएम येदियुरप्पा अपने समीकरण एचडी देवेगौडा और एचडी कुमारस्वामी से संबंधों को बेहतर कर बीजेपी टॉप लीडरशिप को संदेश देना चाहते हैं. संदेश साफ है कि अगर उन्हें सीएम पद से हटाने की कोशिश हुई तो कर्नाटक में एक नए गठबंधन का उदय भी हो सकता है. इस दावे पर भरोसा इसलिए भी जताया जा रहा है क्योंकि सीएम येदियुरप्पा के उत्तराधिकारी को लेकर बीजेपी की तरफ से इशारा दिए जाने की खबरें भी थीं.

देवेगौड़ा को दी गई 60 लाख की गाड़ी
खैर कारण कुछ भी हो लेकिन यह सच है कि सीएम येदियुरप्पा और देवेगौडा परिवार के बीच इस वक्त संबंध बेहद मधुर हो चुके हैं. कहा जा रहा है कि दोनों की कई मुलाकातें भी हुई हैं. हालांकि नजदीकियों ने यही बताया कि दोनों नेताओं के बीच में राज्य के विकास को लेकर बातचीत होती रहती है. दिलचस्प है कि येदियुरप्पा ने चन्नापटना सीट के लिए अच्छा खासा फंड जारी किया. इस सीट का प्रतिनिधित्व एचडी कुमारस्वामी करते हैं. हाल में राज्य सरकार ने देवेगौडा को 60 लाख रुपए की एक कार भी मुहैया कराई है.



करप्शन पर निशाना साधना किया कम
यह भी ध्यान देने लायक है कि जो कुमारस्वामी पहले येदियुरप्पा सरकार पर भ्रष्टाचार को लेकर सीधे निशाना साधते रहते थे, अब उन्होंने कई मुद्दों पर चुप्पी साध रखी है. इनमें एक प्रमुख मामला सीएम येदियुरप्पा के बेटे बीवाई विजयेंद्र के सरकारी कामकाज में दखल देने का भी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज