डरना छोड़ें: अमेरिकी संस्था ने बताया, बेहद कम है सतह से कोरोना फैलने का रिस्क

सतह से कोरोना फैलने का खतरा बेहद कम होता है. (सांकेतिक तस्वीर)

सतह से कोरोना फैलने का खतरा बेहद कम होता है. (सांकेतिक तस्वीर)

अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) का कहना है कि सतह से कोरोना फैलने का डर बेहद कम या फिर ना के बराबर है. संस्था का कहना है कि करीब दस हजार में से एक केस ऐसा होता है जिसमें कोरोना संक्रमण सतह से होता है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना महामारी की दूसरी लहर (Covid-19 Second Wave) इस वक्त देश में चिंताजनक हो चुकी है. इस बीच एक बार फिर लोगों ने घर में इस्तेमाल होने वाली चीजों के सैनेटाइजेशन (Sanitization) पर जोर देना शुरू कर दिया है. महानगरों में लिफ्ट के सैनेटाइजेशन की प्रक्रिया को भी तेज किया जा रहा है. लेकिन अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) का कहना है कि सतह से कोरोना फैलने का डर बेहद कम या फिर ना के बराबर है. संस्था का कहना है कि करीब दस हजार में से एक केस ऐसा होता है जिसमें कोरोना संक्रमण सतह से फैलता है.

माना जा रहा है कि सीडीसी द्वारा दी गई इस जानकारी का वैश्विक स्तर पर प्रभाव पड़ सकता है. कोरोना महामारी के बीच पूरी दुनिया में होटल रूम, दफ्तर, स्कूल, पब्लिक ट्रांसपोर्ट और रेस्टोरेंट जैसी जगहों पर नियमित रूप से सैनेटाइजेशन की प्रक्रिया चलती रही है. माना गया कि कोरोना सतह पर मौजूद रहता है और संक्रमित कर सकता है. मोबाइल, लिफ्ट, अन्य मेटल सहित कई सतहों पर कोरोना वायरस के टिके रहने के समय को लेकर भी रिसर्च हुई हैं.

सतह पर मौजूद कोरोना वायरस से भी लोग संक्रमित हो सकते हैं लेकिन इसकी दर बेहद कम

सीडीसी के डायरेक्टर रोशेल वैलेंस्की का कहना है कि सतह पर मौजूद कोरोना वायरस से भी लोग संक्रमित हो सकते हैं लेकिन इसकी दर बेहद कम है. सीडीसी की गाइडलाइंस में कहा गया है कि सार्स कोविड वायरस के फैलने का मेन रूट सतह नहीं है. ये वायरस ज्यादातर बार डायरेक्ट कॉन्टैक्ट से ही फैलता है.
कोरोना वायरस से दुनिया में सर्वाधिक प्रभावित देश रहा है अमेरिका

गौरतलब है कि अमेरिका कोरोना वायरस से दुनिया में सर्वाधिक प्रभावित देश रहा है. बीते साल अमेरिका कोरोना वायरस से इतनी बुरी तरह प्रभावित हुआ था कि देश का आर्थिक और हेल्थ सिस्टम जबरदस्त दबाव में आ गए थे. कोरोना के खिलाफ लापरवाही को लेकर निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप जबरदस्त आलोचना भी हुई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज