कांग्रेस अध्यक्ष पद की रेस: खड़गे पर इसलिए भारी पड़ सकते हैं शिंदे 

पार्टी सूत्रों के मुताबिक अध्यक्ष के लिए जिन चार-पांच नामों पर विचार हो रहा है उनमें दलित समुदाय से आने वाले कांग्रेस के दो वरिष्ठ नेता रेस में सबसे आगे हैं. पहला नाम है पूर्व गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे का और दूसरा पिछली लोकसभा में कांग्रेस दल के नेता रहे मल्लिकार्जुन खड़गे का

Ranjeeta Jha
Updated: July 2, 2019, 2:36 PM IST
कांग्रेस अध्यक्ष पद की रेस: खड़गे पर इसलिए भारी पड़ सकते हैं शिंदे 
कांग्रेस अध्यक्ष पद की रेस में आगे शिंदे
Ranjeeta Jha
Ranjeeta Jha
Updated: July 2, 2019, 2:36 PM IST
राहुल गांधी अपने इस्तीफे पर अड़े हुए हैं, और पार्टी को दिया एक महीने का समय भी खत्म हो गया है. ऐसे में अब नए अध्यक्ष को लेकर भी साफ हो गया है. संसद सत्र के खत्म होते ही इस बाबत कांग्रेस वर्किंग कमिटी की बैठक भी बुलाई जाएगी. सूत्रों के मुताबिक सुशील कुमार शिंदे और मल्लिकार्जुन खड़गे का नाम अगले कांग्रेस अध्यक्ष की दौड़ में सबसे आगे चल रहा है, जिसमें शिन्दे के नाम पर सहमति बनती दिख रही है. ऐसा हुआ तो 21 साल बाद गांधी परिवार के बाहर का कोई नेता कांग्रेस अध्यक्ष बनेगा.

पार्टी सूत्रों के मुताबिक अध्यक्ष के लिए जिन चार-पांच नामों पर विचार हो रहा है उनमें दलित समुदाय से आने वाले कांग्रेस के दो वरिष्ठ नेता रेस में सबसे आगे हैं. पहला नाम है पूर्व गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे का और दूसरा पिछली लोकसभा में कांग्रेस दल के नेता रहे मल्लिकार्जुन खड़गे का.

इसलिए मज़बूत है शिंदे की दावेदारी
शिंदे महाराष्ट्र से आते हैं जहां कुछ महीनों बाद विधानसभा चुनाव होने हैं, ऐसे में शिंदे की दावेदारी ज्यादा प्रबल दिख रही है. हालांकि इन दो नेताओं के अलावा भी कुछ अन्य नामों पर विचार किया जा रहा है. सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी निजी काम से विदेश में हैं. उनके भारत लौटने के कार्यक्रम के अनुसार सीडब्ल्यूसी की तारीख का एलान हो सकता है जिसमें नए कांग्रेस अध्यक्ष का एलान होगा.

कांग्रेस का दलित चेहरा हैं खड़गे
स्वच्छ छवि वाले मल्लिकार्जुन खड़गे ने एक आम कांग्रेस कार्यकार्ता के तौर पर शुरूआत की थी. वे लंबे समय तक कर्नाटक की राजनीति में सक्रिय रहे और वर्तमान में दक्षिण भारत में कांग्रेस के दलित चेहरे के रूप में जाने जाते हैं. जब वे संसद पहुंचे तो तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने उनके सुदीर्ध राजनैतिक अनुभव को देखते हुए उन्हें अहम मंत्रालयों की ज़िम्मेदारी सौंपी थी.

कांग्रेस का दलित चेहरा हैं खड़गे Khadge is the Dalit face of congress
कांग्रेस का दलित चेहरा हैं खड़गे

Loading...

नहीं बदला राहुल का फैसला

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए राहुल गांधी ने पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने की पेशकश की थी. हालांकि सीडब्ल्यूसी ने राहुल का इस्तीफा नामंजूर कर दिया था लेकिन राहुल अपने फैसले पर कायम हैं. उन्हें मनाने के लिए पार्टी के नेता कार्यकर्ता काफी कोशिश कर रहे हैं. सोमवार को सभी कांग्रेस मुख्यमंत्रियों ने राहुल से पद पर बने रहने की अपील की. राहुल को मनाने के लिए कांग्रेस के युवा पदाधिकारी इस्तीफा दे रहे हैं और कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन इन सबसे राहुल गांधी का निर्णय नहीं बदला. राहुल गांधी 2017 में पार्टी के अध्यक्ष बने थे.उससे पहले 19 साल तक उनकी मां सोनिया गांधी ने पार्टी की कमान संभाली थी.

 

ये भी पढ़ें -

कांग्रेस की तलाश पूरी, सोनिया गांधी ने इस नेता को अध्यक्ष पद के लिए किया फोन!

राहुल गांधी ने हार के लिए लगाई 3 पूर्व मुख्यमंत्रियों की क्लास

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 2, 2019, 1:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...