ममता सरकार को SC का अवमानना नोटिस, पूछा- मीम्स बनाने वाली BJP वर्कर को तुरंत क्यों नहीं किया रिहा

सुप्रीम कोर्ट ने पश्चिम बंगाल सरकार से पूछा है कि मई में उसके आदेश के बाद भी भाजपा कार्यकर्ता प्रियंका शर्मा को तुरंत रिहा क्यों नहीं किया गया.

News18Hindi
Updated: July 1, 2019, 2:04 PM IST
ममता सरकार को SC का अवमानना नोटिस, पूछा- मीम्स बनाने वाली BJP वर्कर को तुरंत क्यों नहीं किया रिहा
BJP वर्कर को तुरंत रिहा न करने पर ममता सरकार को SC का नोटिस
News18Hindi
Updated: July 1, 2019, 2:04 PM IST
सुप्रीम कोर्ट ने पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार को अवमानना का नोटिस जारी किया है. यह नोटिस पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मीम पोस्ट करने के आरोप में गिरफ्तार भाजपा कार्यकर्ता की रिहाई में देरी को लेकर दायर अवमानना याचिका पर जारी हुआ है. शीर्ष अदालत ने पश्चिम बंगाल सरकार से पूछा है कि मई में उसके आदेश के बाद भी भाजपा कार्यकर्ता प्रियंका शर्मा को तुरंत रिहा क्यों नहीं किया गया.

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने प्रियंका शर्मा के भाई राजीब शर्मा द्वारा दायर अवमानना याचिका पर राज्य सरकार और अन्य को नोटिस जारी किया है. भाजपा युवा मोर्चा की नेता प्रियंका शर्मा को पश्चिम बंगाल पुलिस ने 10 मई को गिरफ्तार किया था. उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 500 (अवमानना) और सूचना एवं प्रौद्योगिकी कानून के प्रावधानों के आरोपों में मामला दर्ज किया गया था.

Supreme Court, Mamata Banerjee, BJP, Contempt Notice,

इसे भी पढ़ें :- ममता मामले में SC ने प्रियंका को दी ज़मानत, माफी से भी दी छूट

जमानत पर तत्काल रिहाई का था आदेश
तृणमूल कांग्रेस के स्थानीय नेता की शिकायत पर यह गिरफ्तारी हुई थी. शीर्ष अदालत की अवकाश पीठ ने 14 मई को प्रियंका शर्मा को तत्काल जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया था. राजीब शर्मा ने न्यायालय में दायर याचिका में आरोप लगाया है कि 14 मई के आदेश के बावजूद उनकी बहन की जेल से रिहाई में 24 घंटे से ज्यादा की देरी की गई.

इसे भी पढ़ें :- ममता की तस्वीर से छेड़छाड़ करने वाली बीजेपी कार्यकर्ता की जमानत पर SC करेगा सुनवाई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 1, 2019, 12:30 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...