पति ने की थी जिंदा जलाने की कोशिश, कोर्ट से पत्नी ने दिलाई माफी

ये घटना अहमदाबाद की है, जहां 8 साल पहले नूरजहां कचोट नाम की महिला को उनके पति इरफान और ससुराल वालों ने मिट्टी का तेल छिड़ककर आग के हवाले कर दिया था.

News18Hindi
Updated: May 16, 2019, 9:43 AM IST
पति ने की थी जिंदा जलाने की कोशिश, कोर्ट से पत्नी ने दिलाई माफी
सांकेतिक तस्वीर
News18Hindi
Updated: May 16, 2019, 9:43 AM IST
एक शख्स ने 8 साल पहले अपनी पत्नी को ज़िदा जलाकर मारने की कोशिश की थी. कोर्ट अब उसे इस जुर्म के लिए सज़ा सुनाने वाली थी, लेकिन पत्नी ने खुद उसे माफी दिलवा दी. कोर्ट में पत्नी ने दलील दी कि पिछले 8 सालों में उसके पति के व्यवहार में काफी सुधार आया है. इसके अलावा महिला ने यह भी कहा कि इस घटना के बाद वह एक बेटी की मां भी बनी और अब वे खुशी-खुशी जीवन बिता रहे हैं. ऐसे में अगर उनके पति को सजा मिलती है तो फिर उनका परिवार तहस-नहस हो जाएगा.

ये घटना अहमदाबाद की है. 8 साल पहले नूरजहां कचोट नाम की महिला को उनके पति इरफान और ससुराल वालों ने मिट्टी का तेल छिड़ककर आग के हवाले कर दिया था. पड़ोसियों ने उनको जलने से बचा लिया. इस घटना के बाद नूरजहां ने न्याय के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाया. अहमदाबाद जिला न्यायालय ने उनके पति इरफान कचोट को दोषी पाया. उन्हें फरवरी 2013 में तीन साल की जेल की सजा हुई. एक महीने बाद उसे हाई कोर्ट से जमानत मिल गई. रिहाई के बाद इरफान ने नूरजहां के साथ रहने का फैसला किया.



इसके करीब 6 साल बाद जब इरफान की अपील पर गुजरात हाई कोर्ट में सुनवाई हुई तो नूरजहां ने अपने पति को दोबारा जेल जाने से बचाने का फैसला किया. नूरजहां ने हाई कोर्ट में कहा कि वे इरफान को माफ कर दें, वो इरफान के साथ अब खुशी-खुशी परिवारिक जीवन बिता रही हैं. घटना के बाद से इरफान में काफी बदलाव आया है.

ये भी पढ़ें:

ओमान से लौटी महिला ने सुनाई आपबीती, सुषमा को दिया धन्यवाद

खाने में निकली छिपकली, FDA ने बंद कराया हल्दीराम रेस्टोरेंट

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार