RTO News– ड्राइविंग लाइसेंस रिन्‍यूवल कराने वालों को राहत, राज्‍य के किसी भी जिले से करा सकेंगे रिन्‍यू

सड़क परिवहन मंत्रालय ने जारी किया नोटिफिकेशन-सांकेतिक फोटो

सड़क परिवहन मंत्रालय ने जारी किया नोटिफिकेशन-सांकेतिक फोटो

ड्राइविंग लाइसेंस रिन्‍यूवल के लिए लोगों को संबंधित अथारिटी नहीं जाना पड़ेगा. लोग राज्‍य की किसी भी अथारिटी से लाइसेंस रिन्‍यू करा सकेंगे.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. सड़क परिवहन मंत्रालय (Ministry of Road Transport) ने ड्राइविंग लाइसेंस (driving license) रिन्‍यूवल (Renewal) कराने वाले लोगों को भारी राहत दी है. लाइसेंस रिन्‍यू के लिए उन्‍हें संबंधित अथारिटी (Authority) नहीं जाना पड़ेगा, वे राज्‍य के किसी भी अथारिटी (RTO) में जाकर रिन्‍यू करा सकते हैं. मंत्रालय ने इस संबंध में नोटिफिकेशन जारी कर दिया है. इसके साथ ही, बड़े वाहनों को भी राहत दी है, ऐसे वाहनों को अब रजिस्‍ट्रेशन के लिए अथारिटी (registration) ले जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी, मैन्‍यूफैक्‍चरर (Manufacturer) या मैन्‍यूफैक्‍चरर डीलर ही रजिस्‍ट्रेशन कराकर देगा.

सड़क परिवहन मंत्रालय (Ministry of Road Transport) ने द्वारा जारी नोटिफिकेशन से लाइसेंस एक्‍सपायर होने के बाद रिन्‍यू कराने वाले लोगों को भारी राहत मिलेगी. अभी तक ड्राइविंग लाइसेंस जिस भी जिले की अथारिटी से बनता था, एक्‍सपायर होने के बाद व्‍यक्ति को उसी पुरानी अथारिटी में जाना पड़ता था. ऐसे लोगों को अधिक परेशानी होती थी, जो पहले राज्‍य  के छोर में रहकर लाइसेंस बनवाते हैं, लेकिन बाद में दूसरे छोर में रहने लगते हैं. लाइसेंस रिन्‍यू कराने के लिए उसे संबंधित अथारिटी में जाना पड़ता था. इसमें व्‍यक्ति का समय और पैसा दोनों बर्बाद होते थे. मंत्रालय ने ऐसे लोगों को राहत दी है. वे राज्‍य के किसी भी अथारिटी से ड्राइविंग लाइसेंस रिन्‍यू करा सकते हैं. यह एक्‍ट में शामिल कर लिया गया है.

इसी तरह मंत्रालय ने एक अन्‍य बदलाव कर ट्रांसपोर्टरों को  राहत दी है. मौजूदा समय कोई व्‍यक्ति तैयार भारी वाहन कंपनी से तैयार लेता था,  तो उसे रजिस्‍ट्रेशन और फिटनेस के लिए वाहन को आरटीओ में ले जाना पड़ता था. लेकिन अब उसे वाहन को आरटीओ ले जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. मैन्‍यूफैक्‍चरर या मैन्‍यूफैक्‍चरर डीलर ही रजिस्‍ट्रेशन और फिटनेस कराकर देगा. इसी तरह चेचिस लेकर 30 दिन के अंदर बॉडी बनाने के आदेश में  भी बदलाव किया गया है. अब 30 दिन  के बजाए 6 माह तक बॉडी बना सकते हैं. उन पर किसी तरह की कोई पेनाल्‍टी नहीं पड़ेगी. अभी तक टेंपरेरी आरसी 30 दिन बाद एक्‍सपायर हो जाती थी. बस एंड कार ऑपरेटर कंफेडेरशन ऑफ इंडिया (सीएमवीआर) के चेयरमैन गुरुमीत सिंह तनेजा का कहना है कि मंत्रालय के फैसलों को आम व्‍यक्ति और ट्रांसपोर्टरों दोनों को राहत मिलेगी. जहां आम व्‍यक्ति को लाइसेंस के लिए संबंधित अॅथारिटी नहीं जाना होगा, वहीं ट्रांसपोर्टरों को मैन्‍यूफैक्‍चरर या मैन्‍यूफैक्‍चरर डीलर से रजिस्‍ट्रेशन की सुविधा मिलने से राहत मिलेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज