अपना शहर चुनें

States

Cyclone Nivar: क्या आंध्र प्रदेश पर भी दिखेगा चक्रवाती तूफान 'निवार' का असर?

तूफान के मौजूदा रास्ते पर नजर डालें तो सबसे ज्यादा नुकसान तमिलनाडु और पुडुचेरी में होगा
तूफान के मौजूदा रास्ते पर नजर डालें तो सबसे ज्यादा नुकसान तमिलनाडु और पुडुचेरी में होगा

Cyclone Nivar: तूफान का सबसे ज्यादा नुकसान पुडुचेरी और तमिलनाडु में दिखेगा. चेन्नई और आसपास के क्षेत्रों में रातभर बारिश हुई और निचले स्थानों में जलभराव हो गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 25, 2020, 1:32 PM IST
  • Share this:
चेन्नई. चक्रवाती तूफान ‘निवार’ (Cyclone Nivar) बेहद खतरनाक हो गया है. अगले 12 घंटे में इस तूफान का लैंडफॉल हो जाएगा. मौसम विभाग के मुताबिक बुधवार आधी रात या बृहस्पतिवार तड़के तमिलनाडु और पुडुचेरी के बीच तट से ये तूफान टकराएगा. तूफान का सबसे ज्यादा नुकसान पुडुचेरी और तमिलनाडु में दिखेगा. चेन्नई और आसपास के क्षेत्रों में रातभर बारिश हुई और निचले स्थानों में जलभराव हो गया. ये तूफान तट से टकराने के बाद उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ेगा. ऐसा में सवाल उठता है कि क्या इस तूफान का असर आंध्र प्रदेश (ndhra Pradesh) पर भी दिखेगा?

क्या है तूफान का रास्ता
तूफान के मौजूदा रास्ते पर नजर डालें तो सबसे ज्यादा नुकसान तमिलनाडु और पुडुचेरी में होगा. तूफान का आंध्र प्रदेश पर कोई खास असर नहीं पड़ेगा, लेकिन इस वक्त पूरे इलाके में काले घने बादल हैं और वहां भी कम दबाव के चलते बारिश हो रही है. मौसम विभाग ने अपने ताजा बुलेटिन में आंध्र प्रदेश के चित्तूर और नेलॉर में 25 और 26 नवंबर को भारी बारिश की चेतावनी दी है. इसके अलावा रायलसीमा और दक्षिण पूर्व तेलंगाना में भी भारी बारिश की आशंका है. इन तमाम इलाकों में 27 नवंबर तक बारिश गी.

तटीय इलाकों में अलर्ट
मौसम विभाग के मुताबिक तटीय इलाकों में 25 और 26 नवंबर को ऊंची लहरें उठेंगी. इस दौरान आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों के लिए भी अलर्ट जारी किया गया है. इन इलाकों में हवा की रफ्तार भी 80-85 किलोमीटर प्रतिघंटा रहेगी. चक्रवात के खतरे को देखते हुए तमिलनाडु में बुधवार को अवकाश घोषित किया गया है. इस बीच सरकार ने कहा है कि चेम्बरमबक्कम झील में क्षमता से अधिक पानी होने की आशंका के चलते झील का पानी छोड़ा जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज