लाइव टीवी

क्या वीर सावरकर को मिलेगा भारत रत्न, गृह मंत्री अमित शाह ने दिया ये जवाब

News18Hindi
Updated: October 17, 2019, 3:49 PM IST
क्या वीर सावरकर को मिलेगा भारत रत्न, गृह मंत्री अमित शाह ने दिया ये जवाब
अमित शाह (Amit Shah) ने कहा, जो लोग सावरकर जी के साथ विवाद कर रहे हैं वह देश के साथ इतिहास के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं.

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra assembly election) में अपने घोषणापत्र में बीजेपी (BJP) ने वादा किया है कि वह सत्ता में लौटने पर वीर सावरककर (Veer Savarkar), ज्योतिबा राव फुले को भारत रत्न देने की मांग उठाएगी. न्यूज़18 नेटवर्क (News18 Network) से बातचीत में इन्हीं सब मुद्दों पर केंद्रीय गृह मंत्री ने अपनी राय रखी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 17, 2019, 3:49 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: महाराष्ट्र में बीजेपी ने अपने घोषणापत्र में वादा किया है कि वह सत्ता में दोबारा लौटने पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी वीर सावरकर को भारत रत्न देने की मांग करेगी. इस मुद्दे पर केंद्रीय गृह मंत्री से न्यूज़18 नेटवर्क (News18 Network) ग्रुप के एडिटर इन चीफ राहुल जोशी ने सवाल पूछा. इस पर अमित शाह ने कहा, सावरकर जी के बारे में मेरा स्पष्ट कहना है कि उनके जितना राष्ट्रभक्त और सावरकर परिवार जितने बलिदानी परिवार बहुत कम हैं.

बता दें कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में अपने घोषणापत्र में बीजेपी ने वादा किया है कि वह सत्ता में लौटने पर वीर सावरककर, ज्योतिबा राव फुले को भारत रत्न देने की मांग उठाएगी. इन्हीं सब मुद्दों पर अमित शाह ने अपने जवाब दिए.

सावरकर परिवार जितना राष्ट्रभक्त परिवार नहीं
अमित शाह से पूछा गया कि वीर सावरकर को भारत रत्न देने की बात पर वह क्या कहना चाहेंगे, तो उन्होंने कहा, 'मुझे रूल्स मालूम नहीं हैं. इसको ध्यान से देखना पड़ेगा कि नियम क्या है. लेकिन वीर सावरकर जी के बारे में मेरा कहना स्पष्ट है उनके जितना राष्ट्रभक्त और सावरकर परिवार जितने बलिदानी परिवार देश में बहुत कम हैं. देश में ऐसा कोई नहीं है, जिसे एक जन्म के अंदर दो बार उम्रकैद की सजा मिली हो. देश में ऐसा कोई परिवार नहीं है, जिसके दोनों बेटे एक ही जेल में रहे हों एक दूसरे से न मिले हों. देश में एक भी परिवार ऐसा नहीं है, जिसकी संपत्ति अंग्रेजों ने छह छह बार कुर्क की हो. तो जो भी लोग सावरकर जी के साथ विवाद कर रहे हैं वह देश के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं. युवा पीढ़ी को सावरकर से प्रेरणा लेने से रोकने का पाप कर रहे हैं.

हिंदू राष्ट्र पर अमित शाह ने दिया ये जवाब
भारत को हिंदू राष्ट्र होना चाहिए या नहीं इस सवाल पर अमित शाह ने कहा, हिंदू राष्ट्र का जहां तक सवाल है, उसकी कल्पना को पहले को डिफाइन कर दें. हर व्यक्ति की अपनी-अपनी कल्पना होती है. भारत अपने संविधान के तहत चलना चाहिए और संविधान के तहत ही वह चल रहा है.

वाराणसी में भी एक कार्यक्रम के दौरान अमित शाह ने कहा कि वीर सावरकर न होते तो 1857 की क्रांति भी इतिहास न बनती, उसे भी हम अंग्रेजों की दृष्टि से देखते. वीर सावरकर ने ही 1857 की लड़ाई को पहला स्वतंत्रता संग्राम का नाम दिया.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 17, 2019, 2:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...