• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • जातिगत गुणा भाग में फिट हुए जिग्नेश! गुजरात में कांग्रेस के कितने काम आ सकेंगे मेवानी?

जातिगत गुणा भाग में फिट हुए जिग्नेश! गुजरात में कांग्रेस के कितने काम आ सकेंगे मेवानी?

जिग्नेश मेवानी फिलहाल निर्दलीय विधायक हैं. (Photo by SAM PANTHAKY / AFP)

जिग्नेश मेवानी फिलहाल निर्दलीय विधायक हैं. (Photo by SAM PANTHAKY / AFP)

Jignesh Mevani को एक पार्टी की जरूरत थी. साल 2016 में AAP छोड़ने के बाद शायद ही उनके पास गुजरात में कांग्रेस Congress के अलावा कोई और विकल्प था. 41 वर्षीय मेवानी को कांग्रेस की ऐसे समय में जरूरत है, जब भाजपा राज्य में फिर से बढ़त बनाती दिख रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. फायरब्रांड दलित नेता जिग्नेश मेवानी (Jignesh Mevani) को एक पार्टी की जरूरत थी. साल 2016 में AAP छोड़ने के बाद, शायद ही उनके पास गुजरात में कांग्रेस (Congress) के अलावा कोई और विकल्प था. 41 वर्षीय मेवानी को कांग्रेस की ऐसे समय में जरूरत है, जब भाजपा राज्य में फिर से बढ़त बनाती दिख रही है. अगर ‘कांग्रेस को फिर से बनाने’ के राहुल गांधी की आकांक्षा को पूरा करना है, तो उन्हें मेवानी सरीखे चेहरों की जरूरत होगी. कांग्रेस में मेवानी की एंट्री राज्य के कार्यकारी अध्यक्ष हार्दिक पटेल के जरिए हुई.

    मेवानी बनासकांठा के वडगाम के आरक्षित निर्वाचन क्षेत्र से विधायक हैं, लेकिन वह पड़ोसी मेहसाणा से ताल्लुक रखते हैं. यह जिला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गृह जिला भी है. एक पत्रकार के तौर पर मेवानी ने मुंबई में एक पाक्षिक गुजराती पत्रिका ‘अभियान’ के लिए काम किया. मेवानी दिवंगत वकील-कार्यकर्ता मुकुल सिन्हा के संगठन जन संघर्ष मंच के सदस्य थे. यह संगठन साल 2002 के दंगों के पीड़ितों के लिए लड़ा था.

    औपचारिक तौर पर शामिल क्यों नहीं हुए मेवानी?
    वहीं बतौर वकील गुजरात कृषि भूमि सीमा अधिनियम के तहत भूमिहीन दलितों को अतिरिक्त सरकारी भूमि के आवंटन की मांग करने वाली उनकी एक याचिका हाईकोर्ट में है. उन्हें हाल ही में फोर्ड मोटर्स के कर्मचारियों के विरोध-प्रदर्शन में देखा गया था, जो साणंद में अपना मैन्यूफैक्चरिंग प्लांट बंद कर रहा है. मेवानी ने कहा कि जब उन्होंने औपचारिक रूप से कांग्रेस में शामिल होने के लिए विधायक के पद से इस्तीफा देने की बात कही तो कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि अपने मतदाताओं को निराश ना करें. अंग्रेजी अखबार द इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार मेवानी ने कहा, ‘कुछ ही महीनों बाद मैं कांग्रेस के टिकट पर फिर से चुनाव लड़ लूंगा.’

    जातिगत गुणा भाग में फिट हुए मेवानी!
    मेवानी का कांग्रेस में शामिल होना कांग्रेस की जातिगत गुणा-भाग के लिए सही माना जा रहा है. समझा जाता है कि आगामी यूपी और फिर गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस इसे भुनाएगी. मेवानी का स्वागत करते हुए गुजरात कांग्रेस प्रमुख अमित चावड़ा ने कहा, ‘हम राहुल गांधी के नेतृत्व में ऐसे युवा नेताओं का स्वागत करते हैं, जो अत्याचारी सरकार के खिलाफ हमारी सामूहिक लड़ाई में साथ हैं.’

    हालांकि, कांग्रेस के एक पूर्व सांसद ने इस धारणा पर सवाल उठाया कि मेवानी को शामिल करने से कांग्रेस को दलित वोट मिलेगा. उन्होंने कहा, ‘दलित वोट पहले ही बंट चुके हैं. एक जाति का नेता लोगों का नेता नहीं बन सकता, जबकि इसका उल्टा संभव है.’

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज