क्या बंगाल में ममता बना पाएंगी हैट्रिक? जान लीजिए पांच राज्यों के Exit Poll रिजल्ट

कई एक्जिट पोल्स में चुनाव नतीजों के अनुमान लगाए गए हैं. (न्यूज़18 क्रिएटिव)

कई एक्जिट पोल्स में चुनाव नतीजों के अनुमान लगाए गए हैं. (न्यूज़18 क्रिएटिव)

विभिन्न सर्वे एजेंसियों और न्यूज़ चैनलों के एक्जिट पोल में अलग-अलग भविष्यवाणियां की गई हैं. सबसे ज्यादा उत्सुकता पश्चिम बंगाल को लेकर बनी हुई है. पश्चिम बंगाल में कई सर्वे में बीजेपी और टीएमसी के बीच कांटे की टक्कर दिखाई गई है. कुछ में ममता को बढ़त दिखाई जा रही है तो कुछ में बीजेपी को.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 29, 2021, 9:48 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में शुक्रवार को 8वें चरण के मतदान संपन्न होते ही कई एक्जिट पोल (Exit Polls 2021) लोगों के बीच आ चुके हैं. विभिन्न सर्वे एजेंसियों और न्यूज़ चैनलों के एक्जिट पोल में अलग-अलग भविष्यवाणियां की गई हैं. सबसे ज्यादा उत्सुकता पश्चिम बंगाल (West Bengal) को लेकर बनी हुई है. पश्चिम बंगाल में कई सर्वे में बीजेपी और टीएमसी के बीच कांटे की टक्कर दिखाई गई है. कुछ में ममता को बढ़त दिखाई जा रही है तो कुछ में बीजेपी को.

रिपब्लिक टीवी के एग्जिट पोल नतीजों के मुताबिक बंगाल में बीजेपी, ममता बनर्जी की टीएमसी को पछाड़ सकती है. चैनल के एग्जिट पोल आंकड़ों के मुताबिक टीएमसी+ को 128 से 138 सीटें मिलने के आसार हैं, जबकि बीजेपी बहुमत के आंकड़े के करीब जा सकती है. रिपब्लिक के एग्जिट पोल में बीजेपी+ को 138 से 148 सीटें मिल रही हैं. कांग्रेस की अगुवाई वाला गठबंधन 11 से 21 सीटें हासिल कर सकता है.

इसके अलावा एबीपी सी वोटर के सर्वे में बीजेपी को 109-121 सीटें तो टीएमसी को 152-164 सीटें मिलने का अनुमान जाताया गया है. टाइम्स नाउ-सी वोटर के सर्वे में भी बीजेपी को 115 सीटें तो वहीं टीएमसी को 158 सीटें मिलने की बात कही जा रही है. इंडिया टुडे-एक्सिस सर्वे ने दोनों पार्टियों के बीच कांटे की टक्कर दिखाई है. बीजेपी को 134-160 सीट तो टीएमसी को 130-156 सीटें मिलने की बात कही गई है.

असम में किसकी बनेगी सरकार
उत्तर-पूर्व के सबसे बड़े राज्य असम में इस बार की चुनावी लड़ाई बेहद दिलचस्प है. 2016 में राज्य में पहली बार सत्ता पर काबिज हुई बीजेपी दोबारा सरकार में आने के दावे करती रही है तो वहीं विपक्षी कांग्रेस ने सीएए विरोधी प्रदर्शनों को मुद्दा बनाया है.

इंडिया टुडे के एक्जिट पोल नतीजे के मुताबिक राज्य में बीजेपी एक बार फिर सत्ता में वापस लौटती दिख रही है. कांग्रेस को 2016 के मुकाबले मामूली बढ़त मिलती दिख रही है. सर्वे के मुताबिक बीजेपी की अगुवाई वाले NDA को 75 से 85 सीटें, कांग्रेस की अगुवाई वाले UPA को 40 से 50 सीटें और अन्य को 1 से 4 सीटें मिलती दिख रही है.

वहीं एक अन्य सर्वे में एनडीए को जबरदस्त बढ़त दिखाई गई है. टाइम्स नाउ-सी वोटर सर्वे के मुताबिक राज्य में बीजेपी की अगुवाई वाले एनडीए को 115 सीटें जीतते दिखाया गया है. कांग्रेस की अगुवाई वाला यूपीए 19 सीटों पर सिमटता दिख रहा है. एबीपी-सी वोटर सर्वे में एनडीए और यूपीके बीच कांटे की टक्कर बताई गई है. जहां एनडीए को 58 से 71 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है वहीं यूपीए को 53 से 66 सीटें तक मिलने की बात कही जा रही है.



क्या होंगे तमिलनाडु में नतीजे

इंडिया टुडे के एग्जिट पोल के मुताबिक डीएमके गठबंधन को 175 से 195 सीटें मिलने के आसार हैं. वहीं एआईएडीएमके गठबंधन को 38 से 54 सीटें मिल सकती हैं. इसके अलावा एएमएमके को 1 से 2 सीटें, एमएनएम को 0 से 2 सीटें और अन्‍य को 3 सीटें मिल सकती हैं. एबीपी सीवोटर के एग्जिट पोल के अनुसार तमिलनाडु में यूपीए (डीएमके, कांग्रेस व अन्‍य) को 160 से 172 सीटें मिल सकती हैं. वहीं एनडीए (एआईएडीएमके, बीजेपी व अन्‍य) को 58 से 70 सीटें मिल सकती हैं. इसके अलावा एमएएम को 0 से 2 सीटें, एएमएमके को 0 से 2 सीटें और अन्‍य को 0 से 3 सीटें मिल सकती हैं.वहीं टुडेज चाणक्‍य के एग्जिट पोल के के अनुसार तमिलनाडु में एआईएडीएमके को 57 सीटें मिलने के आसार हैं. वहीं डीएमके को 175 सीटें मिल सकती हैं. अन्‍य को 2 सीटें मिलने के आसार हैं.

केरल का एक्जिट पोल

एबीपी-सीवोटर के एग्जिट पोल के मुताबिक एलडीएफ को 71 से 77 सीटें जीतने का अनुमान है और यूडीएफ के खाते में 62 से 68 सीटें जाती दिख रही हैं. वहीं, भाजपा की अगुवाई वाले राजग को 0 से दो सीटें जीतने का अनुमान जताया गया है. रिपब्लिक और सीएनएक्स के एग्जिट पोल के मुताबिक: एलडीएफ को 104 से 120 सीटें जीतने का अनुमान और यूडीएफ को 20 से 36 सीटें जीतने का अनुमान है. दूसरी ओर राजग को दो सीटें, जबकि अन्य के खाते में भी दो सीटें जाती दिख रही हैं.

टाइम्स नाऊ-सीवोटर के एग्जिट पोल के मुताबिक: एलडीएफ को 74 सीटें जीतने का अनुमान बताया गया है और यूडीएफ के खाते में 65 सीटें जाती दिख रही हैं. दूसरी ओर, भाजपा की अगुवाई वाले राजग को 1 जीतने का अनुमान जताया गया, जबकि अन्य के खाते में एक भी सीट नहीं. टुडेज चाणक्या के एग्जिट पोल के मुताबिक: एलडीएफ को 102 सीटें जीतने का अनुमान बताया गया है, इसमें 9 सीटों का इजाफा या कटौती हो सकती है. वहीं, यूडीएफ के खाते में 35 सीटें जाती दिख रही हैं, यहां भी 9 सीटें घट-बढ़ सकती हैं. दूसरी ओर, भाजपा की अगुवाई वाले राजग को 3 सीटें जीतने का अनुमान जताया गया और जिसमें तीन सीटें और बढ़ सकती हैं या फिर कम हो सकती है, जबकि अन्य के खाते में 0 से तीन सीटें बताई जा रही हैं.

पुडुचेरी में क्या होंगे नतीजे

एबीपी के एग्जिट पोल के अनुसार पुडुचेरी में इस बार यूपीए (कांग्रेस + डीएमके) को 8 सीटें मिल सकती हैं जबकि पिछली बार इन्हें 17 सीटों पर जीत हासिल हुई थी, लिहाजा 2016 की तुलना में इन्हें 9 सीटों का नुकसान हो रहा है. एनडीए (एआईएनआरसी+बीजेपी+डीएमके) के खाते में औसत 21 सीटें जा सकती हैं और 2016 की 12 सीटों के आधार पर इन्हें 9 सीटों का फायदा हो रहा है. अन्य जस के तस हैं और इन्हें पिछली बार की तरह 1 सीट मिल सकती है.

पुडुचेरी में 2016 में हुए चुनाव में कांग्रेस के नेतृत्व में यूपीए की सरकार बनी थी. इसमें कांग्रेस को अकेले ही 15 सीटें मिली थी. इन चुनावों में पुडुचेरी में एक तरफ कांग्रेस और डीएमके का गठबंधन है तो वहीं दूसरी तरफ बीजेपी ने AIADMK, अखिल भारतीय एनआर कांग्रेस समेत छोटे दलों के साथ मिलकर चुनाव लड़ा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज