• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • अरेस्ट वारंट पर स्पष्टीकरण के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाऊंगा: शशि थरूर

अरेस्ट वारंट पर स्पष्टीकरण के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाऊंगा: शशि थरूर

त्रिवेंद्रम की एक अदालत ने शशि थरूर के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है.

त्रिवेंद्रम की एक अदालत ने शशि थरूर के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है.

कांग्रेस नेता शशि थरूर (Congress Leader Shashi Tharoor) ने ट्वीट कर कहा कि मैं न्यायपालिका का काफी सम्मान करता हूं और अदालत की अवमानना का मेरा कोई इरादा नहीं था.

  • Share this:
    तिरुवनंतपुरम. कांग्रेस नेता शशि थरूर (Congress Leader Shashi Tharoor) ने रविवार को कहा कि वह एक वकील द्वारा उनके खिलाफ दायर मानहानि के मामले में गिरफ्तारी वारंट जारी होने की खबर के बारे में स्पष्टीकरण के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे, जो 1989 में लिखी उनकी किताब 'द ग्रेट इंडियन नॉवेल' में हिंदू महिलाओं को कथित तौर पर बदनाम करने के लिए दायर किया गया है.

    शिकायतकर्ता अधिवक्ता संध्या ने पीटीआई से कहा कि तिरुवनंतपुरम से सांसद थरूर के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट 21 दिसंबर को जारी किया गया जब वह मानहानि के मामले में अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश होने में असफल रहे.

    21 दिसंबर को होना था पेश
    संध्या ने कहा, ‘‘उन्होंने (थरूर) अपनी पुस्तक ‘द ग्रेट इंडियन नॉवेल’ में नायर महिलाओं के खिलाफ एक मानहानिकारक टिप्पणी की थी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैंने अप्रैल में भारतीय दंड संहिता की धारा 499 के तहत मामला दायर किया था. अदालत ने उन्हें समन जारी कर 21 दिसंबर को पेश होने के लिए कहा था. वह ऐसा करने में असफल रहे.’’

    थरूर ने रविवार को अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर कहा कि वह न्यायपालिका का काफी सम्मान करते हैं और उनका अदालत की अवमानना का कोई इरादा नहीं था. उन्होंने प्राप्त समन की तस्वीर भी पोस्ट की जिसमें अदालत में उनके पेश होने की तिथि का कोई उल्लेख नहीं था.

    30 साल पुरानी है किताब
    थरूर ने कहा, ‘‘कई लोगों ने भाजपा महिला मोर्चा की एक वकील द्वारा मेरी 30 वर्ष पुरानी पुस्तक ‘ग्रेट इंडियन नॉवेल’ में एक पंक्ति के बारे में दायर मामले के बारे में मीडिया में आयी खबरों के बारे में सवाल किए हैं.’’

    उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘मैं न्यायपालिका का काफी सम्मान करता हूं और अदालत की अवमानना का मेरा कोई इरादा नहीं था. जैसा कि देखा जा सकता है कि मैंने समन की प्रति संलग्न की है जिसमें कोई तिथि निर्दिष्ट नहीं है.’’

    अदालत से संपर्क करेंगे थरूर
    थरूर ने ट्वीट किया, ‘‘तदनुसार अधिवक्ता ने अदालत से संपर्क किया और बताया गया कि यह अनजाने में हुई लिपिकीय त्रुटि है तथा एक ताजा समन जारी किया जाएगा. हम अभी भी ताजा समन का इंतजार कर रहे हैं लेकिन हमने इसकी जगह गिरफ्तारी वारंट की खबर देखी.’’ कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘हम स्पष्टीकरण के लिए सोमवार को माननीय अदालत से सम्पर्क करेंगे.’’

    थरूर के कार्यालय ने शनिवार को स्पष्ट किया कि उन्हें कोई गिरफ्तारी वारंट प्राप्त नहीं हुआ है और उन्हें उनकी पेशी के लिए जो समन मिला था, उस पर कोई तिथि नहीं थी. उनके कार्यालय को वारंट के बारे में जानकारी मीडिया की खबरों से हुई.

    ये भी पढ़ें-
    CAA-NRC भारत के आंतरिक मुद्दे हैं, लेकिन हमें भी हो रही चिंता- बांग्लादेश

    PM मोदी बोले-CAA का हिंदू-मुस्लिम से वास्ता नहीं, पढ़ें 10 बड़ी बातें!

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज