Home /News /nation /

will poornagiri became fifth dham temple committee hopes are high after cm pushkar singh dhami decision

पांचवां धाम बनेगा पूर्णागिरि? सीएम धामी के चंपावत उपचुनाव लड़ने से मंदिर समिति की बढ़ी उम्मीदें

मंदिर समिति की मानें तो पूर्णागिरि धाम में हर साल 50 लाख से ज्यादा श्रद्धांलू मां के दर्शन के लिए आते हैं. (फोटो- News18)

मंदिर समिति की मानें तो पूर्णागिरि धाम में हर साल 50 लाख से ज्यादा श्रद्धांलू मां के दर्शन के लिए आते हैं. (फोटो- News18)

चंपावत के टनकपुर में स्थित उत्तर भारत के प्रसिद्ध 51 शक्तिपिठों में से एक पूर्णागिरि धाम में इस वक़्त भक्तों का तांता लगा हुआ है. मंदिर समिति की मानें तो पूर्णागिरि धाम में हर साल 50 लाख से ज्यादा श्रद्धांलू मां के दर्शन के लिए आते हैं, जिसमें से 30 लाख श्रद्धांलु 3 महीने यानी मार्च से जून तक चलने वाले मेले में मां के दर्शन करने के लिए आते हैं.

अधिक पढ़ें ...

चंपावत. चार धाम की तर्ज पर चंपावत के पूर्णा पर्वत में बसी मां पूर्णागिरि धाम क्या राज्य का पांचवा धाम बनेगा? कम से कम मुख्यमंत्री पुष्कर धामी के चंपावत से उपचुनाव लड़ने की खबर के बाद से पूर्णागिरि मंदिर समिति की उम्मीदें बढ़ती दिखने लगी हैं.

देवभूमि कहे जाने वाले उत्तराखंड के गढ़वाल मंडल में इस वक़्त केदारनाथ, बद्रीनाथ सहित चारों धामों में दर्शन के लिए भक्तों का तांता लगा हुआ है. ठीक उसी तरह कुमाऊं मंडल चंपावत के टनकपुर में स्थित उत्तर भारत के प्रसिद्ध 51 शक्तिपिठों में से एक पूर्णागिरि धाम में इस वक़्त भक्तों का तांता लगा हुआ है.

मंदिर समिति की मानें तो पूर्णागिरि धाम में हर साल 50 लाख से ज्यादा श्रद्धांलू मां के दर्शन के लिए आते हैं, जिसमें से 30 लाख श्रद्धांलु 3 महीने यानी मार्च से जून तक चलने वाले मेले में मां के दर्शन करने के लिए आते हैं. ऐसे में मंदिर समिति और श्रद्धांलु चार धाम की तर्ज में पूर्णागिरि धाम को भी विकसित करने की उम्मीदें सीएम धामी से लगाए हुए हैं.

ये भी पढ़ें- केदारनाथ धाम के रास्ते में श्रद्धालुओं ने छोड़ा कचरे का अंबार, ये तस्वीरें कर देंगी शर्मसार

चम्पावत से उपचुनाव लड़ रहे मुख्यमंत्री पुष्कर धामी कई मौकों पर खुद कह चुके हैं कि उन्हें मां पूर्णागिरि ने ही चम्पावत बुलाया है और चम्पावत से उपचुनाव में टिकट फाइनल होने से पहले सीएम अपने परिवार के साथ पूर्णागिरि दर्शन के लिए आए थे.

ये भी पढ़ें- अल्मोड़ा में काम करने के लिए अब मजदूरों को कराना होगा नगरपालिका में रजिस्ट्रेशन

ऐसे में भाजपा नेता भी उम्मीद लगाए हैं कि चार धाम की तर्ज पर साल भर मां पूर्णा के दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को सुविधा मिल सकें. वहीं मंदिर समिति मां पूर्णा के श्रद्धालुओं की भावनाओं को मुख्यमंत्री तक पहुंचाने की बात कर रहे हैं.

Tags: Champawat News, CM Pushkar Singh Dhami, Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर