Farmer Protest: पंजाब, हरियाणा के बाद गुजरात के किसानों का समर्थन चाहते हैं राकेश टिकैत; जल्द करेंगे दौरा

राकेश टिकैत ने कहा, हम जल्द ही गुजरात जाएंगे और नए कानूनों को रद्द करने के लिए किसानों के प्रदर्शन के वास्ते समर्थन जुटाएंगे.

राकेश टिकैत ने कहा, हम जल्द ही गुजरात जाएंगे और नए कानूनों को रद्द करने के लिए किसानों के प्रदर्शन के वास्ते समर्थन जुटाएंगे.

Farmer Protest: भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने दावा किया कि किसान अंततः अपनी कृषि उपज का कोई हिस्सा नहीं ले पाएंगे क्योंकि नए कानून केवल कॉरपोरेट का पक्ष लेंगे.

  • भाषा
  • Last Updated: February 21, 2021, 11:43 PM IST
  • Share this:
गाजियाबाद. किसान नेता राकेश टिकैत (Farmer leader Rakesh Tikait) ने रविवार को कहा कि वह केंद्र के विवादित कानूनों के खिलाफ चल रहे आंदोलन के लिए समर्थन मांगने के वास्ते जल्द गुजरात का दौरा करेंगे. टिकैत ने यह टिप्पणी दिल्ली-उत्तर प्रदेश सीमा पर गाज़ीपुर (Farmer Protest at Gazipur Border) में गुजरात और महाराष्ट्र के किसानों के एक समूह से मुलाकात के दौरान की.

टिकैत गाज़ीपुर बॉर्डर पर नवंबर से डेरा डाले हुए हैं. भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने दावा किया कि किसान अंततः अपनी कृषि उपज का कोई हिस्सा नहीं ले पाएंगे क्योंकि नए कानून केवल कॉरपोरेट का पक्ष लेंगे.

गांधीधाम से आए समूह ने टिकैत को दिया चरखा

बीकेयू की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक, हम ऐसी स्थिति नहीं होने देंगे. हम सिर्फ इसे लेकर चिंतित हैं और हम यह नहीं होने देंगे कि इस देश की फसल को कॉरपोरेट नियंत्रित करे. गुजरात के गांधीधाम से आए समूह ने टिकैत को चरखा भेंट किया. उन्होंने कहा, “ गांधीजी ने ब्रिटिश को भारत से भगाने के लिए चरखा का इस्तेमाल किया. अब हम इस चरखे का इस्तेमाल करके कॉरपोरेट को भगाएंगे. हम जल्द ही गुजरात जाएंगे और नए कानूनों को रद्द करने के लिए किसानों के प्रदर्शन के वास्ते समर्थन जुटाएंगे.“
इस बीच, हरियाणा के रोहतक जिले की 20 से अधिक महिलाएं गाज़ीपुर में आंदोलन में शामिल हुईं और आंदोलन को अपना समर्थन देने का आश्वासन दिया.

कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन

दिल्ली के सिंघू, टीकरी और गाज़ीपुर बॉर्डर पर हजारों किसान प्रदर्शन कर रहे हैं. उनकी मांग है कि केंद्र सरकार नए कृषि कानूनों को रद्द करे तथा न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) देने के लिए कानून बनाए.



Youtube Video


हार्दिक पटेल ने भी दिया राकेश टिकैत को न्योता

उल्लेखनीय है कि कुछ वक्त पहले हार्दिक पटेल ने भी राकेश टिकैत को गुजरात आने का न्योता दिया था. हार्दिक पटेल ने कहा था, 'मैंने राकेश टिकैत जी से बात की है. किसानों के लिए उनकी लड़ाई सराहनीय है और मैंने इस लड़ाई में उनका सहयोग करने का वादा किया है. मेरे गुजरात से बाहर जाने पर रोक लगी हुई है. जिसकी वजह से मैं विरोध में शामिल नहीं हो पाया हूं. हालांकि मैंने टिकैत जी को गुजरात आने का निमंत्रण दिया है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज