Home /News /nation /

कश्मीरी युवाओं से बात करूंगा लेकिन पाक से नहीं, मनोज सिन्हा ने अमित शाह के शांति फॉर्मूले का किया जिक्र

कश्मीरी युवाओं से बात करूंगा लेकिन पाक से नहीं, मनोज सिन्हा ने अमित शाह के शांति फॉर्मूले का किया जिक्र

जम्मू-कश्मीर के उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा. (फाइल फोटो)

जम्मू-कश्मीर के उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा. (फाइल फोटो)

Manoj Sinha Interview: न्यूज़18 को दिए इंटरव्यू में मनोज सिन्हा ने कहा-अमित शाह ने घाटी में अपनी हालिया यात्रा के दौरान साफ कर दिया था कि हम पाकिस्तान से बात नहीं करेंगे. हम जम्मू-कश्मीर में स्थाई शांति के समाधान पर काम करना चाहते हैं.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर के लेफ्टिनेंट गवर्नर मनोज सिन्हा (Manoj Sinha) ने बुधवार को कहा कि वो कश्मीर में शांति (Peace in Kashmir) के लिए स्थानीय युवाओं (Local Youth) से बात करेंगे लेकिन पाकिस्तान से नहीं. सिन्हा ने यह बात कहते हुए गृह मंत्री अमित शाह के बयान का भी जिक्र किया. गृहमंत्री ने भी कश्मीर में शांति के लिए यही बात कही थी. अब मनोज सिन्हा ने उस बात को फिर दोहराया है.

न्यूज़18 को दिए इंटरव्यू में मनोज सिन्हा ने कहा-अमित शाह ने घाटी में अपनी हालिया यात्रा के दौरान साफ कर दिया था कि हम पाकिस्तान से बात नहीं करेंगे. हम जम्मू-कश्मीर में स्थाई शांति के समाधान पर काम करना चाहते हैं.

जम्मू-कश्मीर में हाल में आतंकी हमलों में जान गंवाने वाले आम नागरिकों के परिवारों को भी मनोज सिन्हा ने सांत्वना दी है. उन्होंने कहा-कुछ दुर्भाग्यपूर्ण घटनाएं हुई हैं. हमारे लिए हर मौत की खबर बुरी और दुखद है. हमारा लक्ष्य ये सुनिश्चित करने का है कि यहां पर कोई भी हत्या न हो. प्रशासन अपने रोल को लेकर बेहद क्लियर है. हम कानून को उसका काम करने में कोई बाधा नहीं पहुंचने देंगे और पुलिस जरूरत के मुताबिक हर तरह की शक्तियों का इस्तेमाल कर सकती है.

लेफ्टिनेंट गवर्नर ने आगे कहा कि इन नृशंस हत्याओं के साजिशकर्ता ‘चाहे किसी भी गहरे बिल में छुपे हों, उन्हें खोजकर खत्म किया जाएगा’.

आर्टिकल 370 की समाप्ति के बाद अमित शाह की पहली यात्रा
आर्टिकल 370 की समाप्ति के बाद घाटी की अपनी पहली यात्रा के दौरान गृह मंत्री अमित शाह ने अधिकारियों से कहा था कि या तो आतंकवाद को खत्म कीजिए या फिर ट्रांसफर ले लीजिए. जम्मू-कश्मीर के एक अधिकारी के मुताबिक उन्होंने कहा था कि आपको वेलफेयर के बारे में सोचने की जरूरत नहीं है, अगर आप आतंक को खत्म कर देते हैं तो वो उसका (वेलफेयर) काम हम देख लेंगे. घाटी में आतंक के खिलाफ हमें जीरो टॉलरेंस रखना होगा.

बैठक में मौजूद थे आला नेता-अधिकारी
शाह का यह स्पष्ट संदेश शनिवार को केंद्र शासित प्रदेश की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर हुई समीक्षा बैठक में सामने आया था. कश्मीर के एक अधिकारी के मुताबिक इस बैठक में लेफ्टिनेंट गवर्नर मनोज सिन्हा, जम्मू-कश्मीर चीफ सेक्रेटरी, डीजीपी कश्मीर, आईजी कश्मीर, इंटेलिजेंस ब्यूरो और रॉ के चीफ, केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला मौजूद थे.

गृह मंत्री का स्पष्ट संदेश
गृह मंत्री की ये यात्रा हाल में आम नागरिकों की टारगेट किलिंग के बाद हुई थी. अधिकारी के मुताबिक अमित शाह ने कहा कि जो लोग कश्मीर में काम करने को लेकर डरे हुए हैं उन्हें कहीं और पोस्टिंग ले लेनी चाहिए.

(ये स्टोरी यहां क्लिक कर पूरी पढ़ी जा सकती है.)

Tags: Amit shah, Jammu kashmir, LG Manoj Sinha

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर