अपना शहर चुनें

States

कहीं पर निगाहें, कहीं पर निशानाः विधानसभा चुनावों से पहले बीजेपी सरकार ने 7.47 लाख चाय बागान मजदूरों को बांटे 3-3 हजार रुपये

मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने छोटे चाय उत्पादकों द्वारा उठाए गए मुद्दों पर भी गौर करने का आश्वासन दिया. फाइल फोटो
मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने छोटे चाय उत्पादकों द्वारा उठाए गए मुद्दों पर भी गौर करने का आश्वासन दिया. फाइल फोटो

Assam Assembly Election 2021: वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने छह फरवरी को 7.47 लाख चाय बागान मजदूरों को तीन-तीन हजार रुपये वितरित किए. पहले उन्हें दो चरणों में पांच-पांच हजार रुपये मिले थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 9, 2021, 3:05 PM IST
  • Share this:
गुवाहाटी. असम में विधानसभा चुनावों (Assam Assembly Election 2021) से पहले 7.47 लाख चाय बागान मजदूरों को सरकार द्वारा तीन-तीन हजार रुपये वितरित करने के दो दिनों बाद मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल (Sarbananda Sonowal) ने सोमवार को 471 छोटे चाय उत्पादकों को जमीन का मालिकाना हक सौंपा है. सोनोवाल ने डिब्रूगढ़ जिले में 471 छोटे चाय उत्पादकों को जमीन का पट्टा वितरित किया और खानीकर में जिला विज्ञान केंद्र की आधारशिला रखी. उन्होंने कहा कि जमीन का मालिकाना हक देकर सरकार ने 2778 बीघा जमीन पर उनके अधिकारों को स्थापित किया है. मुख्यमंत्री ने छोटे चाय उत्पादकों द्वारा उठाए गए मुद्दों पर भी गौर करने का आश्वासन दिया. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने छह फरवरी को 7.47 लाख चाय बागान मजदूरों को तीन-तीन हजार रुपये वितरित किए. पहले उन्हें दो चरणों में पांच-पांच हजार रुपये मिले थे.

केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ‘चाह बगीचा धन पुरस्कार मेला’ योजना की तीसरी किस्त के तहत चाय श्रमिकों को वित्तीय सहायता देने के लिए शनिवार को एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचीं थीं. कार्यक्रम को संबोधित करते हुए वित्तमंत्री ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चाय बागान श्रमिकों के जीवनस्तर में सुधार लाने की इच्छा जताई थी. बीजेपी सरकार के सत्ता में आने के बाद बागान मजदूरों के लिए कई योजनाएं शुरू की गई हैं.





तीसरी किस्त के तहत 7,46,667 श्रमिकों के बैंक खातों में तीन-तीन हजार रुपये की अतिरिक्त राशि डाली जाएगी. इससे पहले सभी चाय बागान श्रमिकों को दो किस्तों में पांच-पांच हजार रुपये दिए गए हैं. सीतारमण ने कहा कि विभिन्न योजनाओं के लिए डायरेक्ट बैंक ट्रांसफर के इस्तेमाल से बिचौलिये समाप्त हो गए हैं. केंद्र सरकार भविष्य में भी असम के चाय बागान श्रमिकों को समर्थन जारी रखेगी.

मध्य भारत से ताल्लुक रखने वाले असम के चाय बागान मजदूर असम की 126 विधानसभा सीटों में से 45 पर निर्णायक भूमिका अदा करते हैं. ये सभी 45 सीटें असम के पूर्वी, मध्य और दक्षिणी हिस्से में फैली हुई हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज