LAC पर काम आया भारत का दबाव, प्वाइंट 14, 15 और 17A से पूरी तरह पीछे हटा चीन: सूत्र

LAC पर काम आया भारत का दबाव, प्वाइंट 14, 15 और 17A से पूरी तरह पीछे हटा चीन: सूत्र
वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों के बीच हो रही बैठकों का बेहतरीन फैसला सामने आया है (सांकेतिक फोटो)

एलएसी पर भारत और चीन के बीच चल रहे तनाव के घटने की खबरें आई हैं. प्वाइंट 14, 15 और 17A से चीन की सेना पीछे हट गई है. आने वाले सप्ताहों में पैंगोंग त्सो झील के इलाके की स्थिति को लेकर वरिष्ठ सैन्य कमांडरों के बीच और बैठकें होने की की उम्मीद है.

  • Share this:
नई दिल्ली. लद्दाख में एलएसी पर भारत और चीन के बीच चल रहे तनाव को कम करने की दिशा में दोनों देशों ने कुछ महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं.  एएनआई के अनुसार भारत और चीन की सेनाएं सैन्य बातचीत (Military and diplomatic talks) के बीच गलवान घाटी, पट्रोलिंग पॉइंट 15 और पूर्वी लद्दाख में हॉट स्प्रिंग्स / गोगरा क्षेत्र में पीछे हट गई हैं. एक सूत्र ने एएनआई को बताया, "भारत और चीन के बीच सैन्य और कूटनीतिक स्तरों पर चल रही बातचीत से पूर्वी लद्दाख में पट्रोलिंग प्वाइंट 14 (गलवान क्षेत्र), 15 और 17 ए (हॉट स्प्रिंग्स / गोगरा) में पूरी तरह से विघटन हुआ है." यानी चीनी सेना (Chinese Army) इन इलाकों में पीछे हटी है. और भारतीय सेना भी किसी संभावित झड़प से बचने के लिए पीछे आई है.

सूत्रों ने कहा कि पिछली कोर कमांडर-स्तरीय वार्ता में किए गए समझौतों के अनुसार इन क्षेत्रों में विघटन के बाद, एकमात्र ऐसा क्षेत्र जहां पर विघटन लागू किया जाना शेष है, वह पैंगोंग त्सो झील (Pagong Tso Lake) के किनारे वाला फिंगर क्षेत्र है.

अब भी LAC पर अपनी ओर चीन ने तैनात कर रखे हैं 40 हजार सैनिक
उन्होंने कहा कि आने वाले सप्ताहों में पैंगोंग त्सो झील (Pagong Tso Lake) के इलाके की स्थिति पर और स्पष्टता को लेकर आगे वरिष्ठ सैन्य कमांडरों (Senior Military Commanders) के बीच और बैठकें होने की उम्मीद है.
भले ही दोनों पक्षों के बीच विघटन हो रहा है, लेकिन चीन ने पूर्वी लद्दाख के उल्टी ओर एलएसी पर अपनी तरफ विघटन की प्रक्रिया शुरू नहीं की है, जहां उन्होंने लगभग 40,000 सैनिकों को बनाए रखा है. जिन्हें सामने और गहराई के क्षेत्रों में भारी हथियारों के साथ तैनात किया गया है.





इससे पहले आई खबर के मुताबिक पूर्वी लद्दाख (East Ladakh) में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारत और चीन के बीच तनातनी के बीच दोनों देशों के सैनिक (Soldiers) अब पीछे हट रहे हैं.

यह भी पढ़ें: पाक ने जम्मू-कश्मीर के पुंछ और सांबा सेक्‍टर में की गोलाबारी, BSF जवान घायल

सूत्रों ने जानकारी दी थी कि चीन के सैनिक गलवान नदी घाटी (Galwan Valley) में कम से कम एक किलोमीटर पीछे हट गए हैं. यह भी कहा गया था कि भारतीय सैनिक भी उस जगह से पीछे हट गए हैं और दोनों सेनाओं ने अपने बीच एक बफर जोन बना लिया है. लेकिन अब भी चीनी सैनिक कई जगहों पर मौजूद थे, इसलिए भारतीय सैनिक भी वहां डटे रहे. उन्हीं इलाकों को लेकर अब सहमति बनी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading