लाइव टीवी

Covid-19: भारत में 10 लाख लोगों पर सिर्फ 18 टेस्ट, क्यों है यह चिंता करने वाली बात?

News18Hindi
Updated: March 27, 2020, 11:28 AM IST
Covid-19: भारत में 10 लाख लोगों पर सिर्फ 18 टेस्ट, क्यों है यह चिंता करने वाली बात?
विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने वायरस (Coronavirus) के प्रसार को रोकने के लिए भारत के उपायों की सराहना की हालांकि इसके महानिदेशक टेड्रोस एडनॉम गेब्रेयसस ने कहा कि अकेले लॉकडाउन महामारी को रोकने में मदद नहीं कर सकता है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने वायरस (Coronavirus) के प्रसार को रोकने के लिए भारत के उपायों की सराहना की हालांकि इसके महानिदेशक टेड्रोस एडनॉम गेब्रेयसस ने कहा कि अकेले लॉकडाउन महामारी को रोकने में मदद नहीं कर सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 27, 2020, 11:28 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की ओर से अगले 21 दिन तक के लिए ऐलान किये गये लॉकडाउन (21 Day Lockdown) के बाद भारत (India) में अब तक 694 मामले सामने आ चुके हैं. इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने बताया है कि भारत में अब तक 25,144 जांच हुए हैं जिसमें से 24,254 मामलों की जांच 25 मार्च तक 8 बजे तक हुई थी. इनमें से 581 मामले पॉजिटिव पाये गये. ऐसे में यहां 10 लाख लोगों की जनसंख्या पर 18 टेस्ट किये जा रहे हैं. जानकारों का मानना है कि भारत में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या इसलिए कम है क्योंकि यहां सीमित संख्या में जांच हो रही है और वास्तव में प्रभावित लोगों की संख्या ज्यादा होगी.

चीन के अलावा अमेरिका, ब्रिटेन, इटली और दक्षिण कोरिया में कोरोना वायरस के पॉजिटिव के काफी मामले सामने आये. यह रेट भारत के मुकाबले बहुत ज्यादा हैं. उदाहरण के लिए इटली में 25 मार्च तक 74,386 मामले सामने आये. यहां 3,24,445 लोगों की जांच की गई. यहां 10 लाख लोगों पर 5,268 लोगों की जांच हुई. वहीं ब्रिटेन में 25 मार्च तक 97,019 लोगों की जांच हुई. 10 लाख लोगों पर यहां 1,469 लोगों की जांच हुई. ब्रिटेन में कोरोना वायरस के 9,529 मामले सामने आए हैं.

इसी तरह दक्षिण कोरिया, जिसने मामलों में तेज वृद्धि देखी (बुधवार की तरह 9,137), लेकिन अंततः संकट को हल करने में कामयाब रहा, प्रति मिलियन लोगों पर 6,931 परीक्षणों की दर से 3,57,896 परीक्षण किए.





 कोरोनो वायरस के मामलों की संख्या अधिक है
संयुक्त राज्य अमेरिका, चीन और भारत के बाद सबसे अधिक आबादी वाला देश है. इंडियास्पेंड डॉट कॉम के एनालिसिस के अनुसार, भारत में राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास अधिक परीक्षण केंद्र हैं और अधिक परीक्षण कर रहे हैं जिनमें कोरोनो वायरस के मामलों की संख्या अधिक है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने वायरस के प्रसार को रोकने के लिए भारत के उपायों की सराहना की. इसके महानिदेशक, टेड्रोस एडनॉम गेब्रेयसस ने कहा कि अकेले लॉकडाउन महामारी को रोकने में मदद नहीं कर सकता है.

यह भी पढ़ें:-

अमेरिका में चीन से भी ज्यादा सामने आए मामले, इटली को भी पीछे छोड़ा
भारत, चीन, US समेत इन देशों को मिला कोरोना से लड़ने के लिए 5000 अरब डॉलर
कोरोना से राहत देने के लिए सरकार के बाद अब RBI गवर्नर ने किए 5 बड़े ऐलान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 27, 2020, 11:08 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर