लाइव टीवी

कर्नाटक की मस्जिदों ने मुस्लिमों से की अपील- अपने दस्तावेज दुरुस्त रखें...

भाषा
Updated: December 11, 2019, 7:26 PM IST
कर्नाटक की मस्जिदों ने मुस्लिमों से की अपील- अपने दस्तावेज दुरुस्त रखें...
कर्नाटक में मस्जिदों से अपील- मुस्लिम अपने पहचान पत्र और कागजात दुरुस्त रखें

बेंगलुरु में जामिया मस्जिद के इमाम मकसूद इमरान ने बताया, 'जामिया मस्जिद के माध्यम से यह प्रयास किया जा रहा है, जिसमें हम मुस्लिमों को अपने रिकॉर्ड पूरी तरह से दुरुस्त रखने की सलाह दे रहे हैं.'

  • Share this:
बेंगलुरु. देश भर में नेशनल सिटिजनशिप रजिस्टर (NRC) को लागू करने की संभावना को देखते हुए कर्नाटक (Karnataka) में मस्जिदों ने मुस्लिमों से अपने दस्तावेज दुरुस्त रखने की अपील की है. इमामों और मौलवियों ने मुस्लिमों से अपील की है कि अगर उनके दस्तावेज में कुछ भी गड़बड़ी है तो वे उसे ठीक करा लें. लोगों को उनके दस्तावेज तैयार रखने और गलतियों को सुधारने में मदद के लिए बेंगलुरु में जामिया मस्जिद में तीन महीने पहले एक 'नागरिक केंद्र' भी खोला गया था.

बेंगलुरु में जामिया मस्जिद के इमाम मकसूद इमरान ने बुधवार को न्यूज़ एजेंसी पीटीआई को बताया, 'भारत के हर नागरिक के लिए अपना दस्तावेज दुरुस्त रखना जरूरी है. इसे ही ध्यान में रखते हुए जामिया मस्जिद के माध्यम से यह प्रयास किया जा रहा है जिसमें हम मुस्लिमों को अपने रिकॉर्ड पूरी तरह से दुरुस्त रखने की सलाह देते हैं.' उन्होंने कहा, 'हमने जामिया मस्जिद में 'नागरिक केंद्र' की भी स्थापना की है, जहां हम लोगों से कुछ दस्तावेज तैयार रखने और उनमें कोई गलती तो नहीं है, यह सुनिश्चित करने को कहते हैं.

मस्जिद में पहचान पत्र सुधारने के लिए केंद्र बनाया गया
इमाम ने कहा कि कभी-कभी आधार, पैन कार्ड, मतदाता पहचान पत्र एवं अन्य दस्तावेजों में नाम में अंतर होता है. उन्होंने कहा कि इन गलतियों को सुधार लेना चाहिए नहीं तो भविष्य में समस्या हो सकती है. इमरान ने हालांकि दावा किया कि इस मुहिम का एनआरसी से कोई लेना-देना नहीं है क्योंकि दक्षिण भारत में घुसपैठ कोई मुद्दा नहीं है इसलिए एनआरसी को लेकर डरने या चिंतित होने की जरूरत नहीं है. इमाम ने कहा, 'एनआरसी कोई मुद्दा नहीं है. यह किसी रूप में हमें प्रभावित नहीं करेगा. हुकूमत के पास पैसे ज्यादा हैं तो खर्च करें.'

बस्वेश्वरनगर के रहने वाले मोहम्मद शहनाज ने भी इस बात की पुष्टि की कि इलाके की मस्जिद ने मुस्लिमों को अपने दस्तावेज तैयार रखने और कोई गलती होने पर उसे सुधारने को कहा है. झारखंड में दो दिसंबर को एक चुनावी रैली के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि उन्होंने समूचे देश में एनआरसी लागू करने के लिए अंतिम समय सीमा 2024 तय की है. उन्होंने कहा कि हर घुसपैठिए की पहचान होगी और अगले आम चुनाव से पहले उसे निकाल बाहर किया जाएगा. हालांकि भाजपा शासित कर्नाटक के गृह मंत्री बसवराज बोम्मई ने राज्य में एनआरसी के पक्ष में अपने विचार रखे. बोम्मई ने कहा कि वह इस संबंध में केंद्रीय गृह मंत्री से बात करेंगे.

यह भी पढ़ें :-

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 7:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर