गायब नजीब केस का गवाह बना IAS अफसर, मदरसे से भी की है पढ़ाई

ये बात अलग है कि कहने के बाद भी आजतक जांच के दौरान किसी भी जांच एजेंसी दिल्ली पुलिस, एसआईटी और सीबीआई ने गवाही के लिए शाहिद को नहीं बुलाया.

नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: April 8, 2019, 9:18 AM IST
गायब नजीब केस का गवाह बना IAS अफसर, मदरसे से भी की है पढ़ाई
फोटो- यूपीएससी की परीक्षा में कामयाबी हासिल करने वाले शाहिद रज़ा.
नासिर हुसैन
नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: April 8, 2019, 9:18 AM IST
शाहिद रज़ा खान भी जेएनयू के उसी माही मांडवी हॉस्टल का छात्र था जहां नजीब रहता था. शाहिद ही वो एक अकेला ऐसा छात्र था जिसने मीडिया के सामने आकर नजीब के साथ हुई सारी घटना बयां की थी. शाहिद नजीब की मां फातिमा नफीस के साथ भी प्रेस कांफ्रेंस में शामिल रहे थे.

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) के नतीजे घोषित होने के बाद एक बार फिर से शाहिद रज़ा सुर्खियों में हैं. लेकिन ये सुर्खियां उनकी सिविल सर्विस की परीक्षा पास करने को लेकर है. शाहिद ने तीसरी बार में ये परीक्षा पास की है. अंतरराष्ट्ररीय मामले विषय पर जेएनयू से  पीएचडी कर रहे शाहिद रज़ा शेरघाटी, गया, बिहार के रहने वाले हैं.

उनके एक बड़े भाई डॉ. जावेद अली दिल्ली में रहते हैं और तीन भाई अरब देश में नौकरी करते हैं. शाहिद के पिता मुमताज अली सीसीएल, बोकारो में सुपरवाइजर रहे हैं. शाहिद ने जामिया मिल्लिया से सिविल सर्विस की तैयारी की थी.

फाइल फोटो- नजीब की मां फातिमा नफीस.


वहीं शाहिद ने आलिम की पढ़ाई मदरसे से की है. नजीब के भाई हसीब अहमद बताते हैं, “2016 में नजीब के गायब रहने से लेकर आजतक शाहिद रज़ा ने पूरा सहयोग दिया है. हमेशा से कहीं भी जाकर गवाही देने के लिए तैयार रहे हैं.

‘जक़ात’ से 18 मुस्लिम लड़के-लड़कियां बने IAS और IPS अफसर, जुनैद को मिली तीसरी रैंक

शाहिद रज़ा ही वो शख्स हैं जिन्होंने उस वक्त भी मीडिया के सामने खुलकर बताया था कि कैसे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के लड़कों ने नजीब के साथ पहले हॉस्टल और फिर बाद में प्रॉक्टर ऑफिस के अंदर भी मारपीट की थी.”वहीं इस बारे में जब न्यूज18 हिन्दी ने शाहिद रज़ा से इस बारे में बात की तो उन्होंने बताया, “नजीब केस का गवाह मैं पहले भी था और आज भी हूं और रहूंगा. मैं सीबीआई को दो-तीन बार अपने बयान दर्ज करा चुका हूं. आगे भी हमेशा जांच एजेंसियों की मदद के लिए तैयार रहूंगा. जब भी जांच एजेंसी दिल्ली पुलिस, एसआईटी और सीबीआई गवाही के लिए बुलाएंगे तो मैं जरूर आऊंगा.”

ये भी पढ़ें- AMU के जुनैद को UPSC में मिली तीसरी रैंक, मां-बाप को इसलिए नहीं था बेटे पर भरोसा
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

जिम्मेदारी दिखाएं क्योंकि
आपका एक वोट बदलाव ला सकता है

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

डिस्क्लेमरः

HDFC की ओर से जनहित में जारी HDFC लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (पूर्व में HDFC स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI R­­­­eg. No. 101. कंपनी के नाम/दस्तावेज/लोगो में 'HDFC' नाम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HDFC Ltd) को दर्शाता है और HDFC लाइफ द्वारा HDFC लिमिटेड के साथ एक समझौते के तहत उपयोग किया जाता है.
ARN EU/04/19/13626

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार