होम /न्यूज /राष्ट्र /ब्रिटेन को COVID-19 वैक्सीन की लाखों खुराक की आपूर्ति करेगा वॉकहार्ट

ब्रिटेन को COVID-19 वैक्सीन की लाखों खुराक की आपूर्ति करेगा वॉकहार्ट

वॉकहार्ट ब्रिटेन को 10 लाख कोरोना वायरस वैक्सीन के डोज करेगी सप्लाई (सांकेतिक फोटो)

वॉकहार्ट ब्रिटेन को 10 लाख कोरोना वायरस वैक्सीन के डोज करेगी सप्लाई (सांकेतिक फोटो)

कंपनी ने बताया कि ब्रिटिश सरकार (UK government) के साथ एक समझौते के तहत ऐसा किया गया है. इस खबर के सामने आने के बाद वॉक ...अधिक पढ़ें

    बेंगलुरु. भारतीय दवा निर्माता कंपनी वॉकहार्ट लिमिटेड (Indian drugmaker Wockhardt Ltd) ने सोमवार को कहा है कि एस्ट्राजेनेका (AstraZeneca) और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय (Oxford University) की ओर से विकसित किए जा रहे एक टीके सहित वह ब्रिटेन (Britain) को कई COVID-19 टीकों की लाखों खुराक (doses) की आपूर्ति करेगा.

    इसने कहा, कंपनी ने फिल एंड फिनिश (fill-and-finish) की क्षमता को आरक्षित कर दिया है- यह निर्माण के दौरान दवा को शीशियों या सिरींज (vials or syringes) में टीके लगाने के लिए भरने का पैकेजिंग का अंतिम कदम होता है. कंपनी ने बताया कि ब्रिटिश सरकार (UK government) के साथ एक समझौते के तहत ऐसा किया गया है. इस खबर के सामने आने के बाद वॉकहार्ट (Wockhardt) के शेयरों में 10% की गिरावट मुंबई मार्केट (Mumbai Market) में देखी गई.

    महामारी को रोकने के लिए दुनिया भर में 150 से अधिक टीके किये जा रहे विकसित
    यूके सरकार ने भी आपूर्ति को सुरक्षित रखने के लिए अगले 18 महीनों के लिए अपने विशेष उपयोग के लिए वेल्स के वेक्सहैम में वॉकहार्ट की एक सहायक कंपनी में एक फिल एंड फिनिश उत्पादन लाइन आरक्षित की है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, मानव क्लीनिकल ​​परीक्षणों में 25 के साथ, महामारी को रोकने के लिए दुनिया भर में 150 से अधिक टीके विकसित और परीक्षण किए जा रहे हैं.

    रूस ने 10 अगस्त तक कोरोना वैक्सीन का रजिस्ट्रेशन कराने की कही बात
    कोरोना वैक्सीन (coronavirus vaccine) तैयार करने की होड़ में रूस (Russia) सबसे आगे निकल चुका है. उसने ऐलान किया है कि 10 अगस्त तक वो वैक्सीन का रजिस्ट्रेशन करा लेगा और अक्टूबर से बड़े स्तर पर इसका उत्पादन भी शुरू हो जाएगा. साथ ही साथ वैक्सिनेशन प्रोग्राम भी चलता रहेगा.  हालांकि एकदम गुप्त तरीके से बनी इस रशियन वैक्सीन के बारे में बहुतों को खास जानकारी नहीं. ये क्या है, किसने बनाई और क्या ये ह्यूमन ट्रायल से गुजरी है- जानिए, इसके बारे में सबकुछ.

    यह भी पढ़ें: 5 अगस्त से शुरू होंगे जिम और योग सेंटर, केंद्र सरकार ने जारी कीं गाइडलाइंस

    वैक्सीन मॉस्को के मॉस्को के गामेल्या इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी और माइक्रोबायोलॉजी में बनाई गई है. हालांकि रूस ने वैक्सीन की तैयारी का काम गुप्त तौर पर किया. एक ओर जहां दूसरे देश अपने यहां वैक्सीन को लेकर प्रयोगों और हर तरह के डेवलपमेंट की जानकारी दे रहे थे. रूस ने लंबी चुप्पी साधी हुई थी. इसी बीच जून में वैक्सीन पर ह्यूमन ट्रायल का पहला चरण शुरू हो गया.

    Tags: Britain, Coronavirus, Coronavirus vaccine, COVID-19 pandemic, Covid-19 vaccine, Mumbai, Share market

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें