मेहुल चोकसी के साथ डोमिनिका गई महिला गर्लफ्रेंड नहीं, अपहरणकर्ताओं की टीम का हिस्सा थी

मेहुल चोकसी और अपहरण में शामिल कथित महिला (AP)

मेहुल चोकसी और अपहरण में शामिल कथित महिला (AP)

Prime Minister of Antigua ने सनसनीखेज बयान देते हुए दावा किया था कि मेहुल चोकसी अपनी गर्लफ्रेंड के साथ डोमिनिका गया था, जहां वह पकड़ा गया.

  • Share this:

नई दिल्ली. मेहुल चोकसी जब हाल ही में डोमिनिका पहुंचा था, तो जरूर उसके साथ एक महिला थी, लेकिन वो महिला भगोड़े कारोबारी की गर्लफ्रेंड नहीं थी, बल्कि मेहुल चोकसी को अगवा करने में संलिप्त गुट की सदस्य थी, इस गुट ने मेहुल को अगवा करने के साथ उसके साथ मारपीट भी की, बाद में मेहुल चोकसी को डोमिनिका पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. बता दें कि कुछ दिन पहले चोकसी एंटीगुआ और बारबुडा से गायब हो गया था, बाद में उसका पता डोमिनिका में लगा, जहां से उसे गिरफ्तार कर लिया गया. अपने वकील के जरिए मेहुल चोकसी ने आरोप लगाया है कि उसे 23 मई को अगवा किया, अगवा करने वाले लोगों के भारत के साथ कनेक्शन हैं और वे एंटीगुआ के अधिकारियों के साथ भी मिले हुए हैं. अपहरणकर्ताओं ने मेहुल चोकसी के साथ मारपीट की, टॉर्चर किया और उसे नौका में बिठाकर डोमिनिका ले गए, जहां उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

इंडिया टुडे ने अपनी रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा है कि अपहरणकर्ताओं में शामिल महिला एंटीगुआ में ही रहती थी. एक समय पर उसने मेहुल चोकसी के साथ सुबह और शाम को सैर सपाटे के दौरान मिलना शुरू कर दिया. बाद में दोनों दोस्ती हो गई और 23 मई को उस महिला ने मेहुल चोकसी को अपने अपार्टमेंट पर मिलने के लिए बुलाया. मेहुल चोकसी जैसे ही अपार्टमेंट पर पहुंचा कथित तौर कुछ लोगों के समूह ने उसे अगवा कर लिया और डोमिनिका ले गए, जहां उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

रविवार को एंटीगुआ और बारबुडा के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउनी ने सनसनीखेज बयान देते हुए दावा किया था कि मेहुल चोकसी अपनी गर्लफ्रेंड के साथ डोमिनिका गया था, जहां वह पकड़ा गया. प्रधानमंत्री गैस्टन ने डोमिनिका से गुजारिश की थी, मेहुल चोकसी को सीधे भारत भेज दिया जाए.

इससे पहले शनिवार की रात ANI ने डोमिनिका पुलिस कस्टडी में मौजूद मेहुल चोकसी की तस्वीरें जारी की थीं. तस्वीर में दिख रहा मेहुल चोकसी जेल की सलाखों के पीछे है और उसके हाथों पर चोट के निशान दिख रहे हैं. उसकी आंखें काफी लाल हैं और शरीर से वह काफी कमजोर दिख रहा है.
ये भी पढ़ेंः डोमिनिका पुलिस की कस्टडी में मेहुल चोकसी, देखिए भगोड़े की ताजा तस्वीर

इंटरपोल के ‘‘येलो नोटिस’’ पर गिरफ्तारी

बता दें कि चोकसी हाल ही में एंटीगा और बारबूडा से फरार हो गया था और उसके खिलाफ इंटरपोल के ‘‘येलो नोटिस’’ के मद्देनजर पड़ोसी डोमिनिका में गिरफ्तार किया गया था. एंटीगा की मीडिया में बुधवार को यह खबर आई. सूत्रों ने कहा कि भारत इस मामले में एंटीगा और बारबूडा के सम्पर्क में था और अब उसने डोमिनिका सरकार के साथ सम्पर्क स्थापित किया है.



एक सूत्र ने बताया, ‘‘हम उनके सम्पर्क में हैं. चोकसी और अन्य भगोड़े को वापस लाने को लेकर हमारी रूचि दृढ़ है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमारा ध्यान इन्हें जल्द से जल्द देश वापस लाने पर है.’’ समझा जाता है कि जांच एजेंसियां चोकसी को भारत लाने के लिये मामले को आगे बढ़ा रही है. एंटीगा और बारबूडा के प्रधानमंत्री गेस्टॉन ब्राउनी ने कहा कि उन्होंने डोमिनिका को हीरा कारोबारी को सीधे भारत को सौंपने को कहा है.

भारत में आपराधिक आरोपों का करना है सामना

मंगलवार रात को डोमिनिका में चोकसी की गिरफ्तारी की खबर आने के बाद ब्राउनी ने मीडिया से कहा था कि उन्होंने चोकसी को भारत को भेजने के संबंध में डोमिनिका के प्रशासन को स्पट निर्देश दिया है. एंटीगा न्यूज ने ब्राउनी के हवाले से कहा, ‘‘हमने उनसे (डोमिनिका) चोकसी को एंटीगा नहीं भेजने को कहा है. उसे भारत वापस भेजने की जरूरत है, जहां उसे अपने खिलाफ आपराधिक आरोपों का सामना करना है.’’


चोकसी पंजाब नेशनल बैंक में 13,500 करोड़ रूपये के ऋण धोखाधड़ी के मामले में वांछित है. इस मामले में उसके रिश्तेदार नीरव मोदी पर भी धोखाधड़ी का आरोप है. नीरव मोदी अभी लंदन की जेल है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज