लाइव टीवी

महिला की डूबकर हुई मौत तो गांव वाले सुखाने लगे झील, HIV होने का था शक

News18Hindi
Updated: December 5, 2018, 3:03 PM IST

गांव वालों को लगा कि महिला के मरने से झील के पूरे पानी में संक्रमण फैल गया होगा. इसके बाद लोगों ने पाइप लगाकर झील को खाली करना शुरू कर दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 5, 2018, 3:03 PM IST
  • Share this:
कर्नाटक के धारवाड़ ज़िले में शहर से करीब 30 किलोमीटर दूर मोराब गांव में लोग पानी की झील सुखाने में लगे हुए हैं. कारण यह है कि उसमें एक महिला की डूब कर मौत हो गई है जिसके बारे में गांव वालों का मानना था कि वह एचआईवी से पीड़ित थी. गांव में स्थित ये झील पीने के पानी का एकमात्र ज़रिया है.

29 नवंबर को गांव वालों ने 36 साल की महिला का मृत शरीर झील में तैरते हुए देखा. उसके शरीर का काफी मांस मछलियां खा चुकी थीं. लोगों को लगा कि झील के पूरे पानी में संक्रमण फैल गया होगा. इसके बाद लोगों ने पाइप लगाकर झील को खाली करना शुरू कर दिया. पिछले चार दिनों में झील का आधे से अधिक पानी बाहर निकाला जा चुका है.

ये भी पढ़ेंः उन्‍नाव: एड्स फैलाने वाला डॉक्‍टर गिरफ्तार, 40 लोगों को लगाई एचआईवी संक्रमित सुई

पिछले साल इसी झील में एक लड़के की भी डूबकर मौत हो गई थी लेकिन उस वक्त ऐसा कोई कदम नहीं उठाया गया था. पंचायत के पूर्व सदस्य रवि कडगल ने बताया कि संक्रमण हो जाने के डर से गांव वाले इस पानी को प्रयोग नहीं करना चाहते इसलिए वे झील को खाली कर रहे हैं.

पंचायत विकास अधिकारी नागराज विदरल्ली ने कहा कि पंचायत के सदस्यों ने गांव वालों को बहुत मनाने की कोशिश की लेकिन उन्होंने एक न सुनी. उन्होंने कहा कि गांव वाले खुद ही पाइप लेकर आ गए और झील को खाली करने लगे. गांव में रहने वाले डॉक्टर सूर्ती हवलदार ने कहा कि पानी में क्लोरीन की गोली डालने के बाद इसका इस्तेमाल किया जा सकता था.

ये भी पढ़ेंः वर्ल्ड एड्स डेः साहब! 13 साल से इस धंधे में हूं, आप पहले आदमी हो जिसने यह सवाल पूछा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 5, 2018, 11:31 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर