लाइव टीवी
Elec-widget

कंधे पर लाद 6 किमी पैदल चला, फिर पहुंचा गर्भवती पत्नी को लेकर अस्पताल

News18Hindi
Updated: December 4, 2019, 3:59 PM IST
कंधे पर लाद 6 किमी पैदल चला, फिर पहुंचा गर्भवती पत्नी को लेकर अस्पताल
तमिलनाडु के इरोडा के पास बरगुर गावं में हुआ ऐसा

गांव के एक ग्रामीण ने बताया, बारिश के मौसम में हमें बहुत सी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. हम अक्सर बीमार और गर्भवती महिलाओं को कपड़े के पालने में इसी तरह मैदानों या बरगुर तक ले जाते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 4, 2019, 3:59 PM IST
  • Share this:
तमिलनाडु (इरोडा). एक महिला को प्रसव पीड़ा होने पर न तो उसे एंबुलेंस मिली और न ही किसी और प्रकार की सहायता. आखिरकार परिजनों ने मजबूर होकर खुद ले जाने का निर्णय लिया. बांस में कपड़ा बांंध उसका पालना बना अस्पताल तक पहुंचाया. महिला ने अस्पताल में बच्चे को जन्म दिया. फिलहाल मां और बच्चा दोनों ही पूरी तरह स्वस्थ हैं.

ये है पूरा मामला
दरअसल ये मामला तमिलनाडु के इरोडा के पास बरगुर गांव का है. यहां रहने वाले मधेश की पत्नी कुमारी को सोमवार शाम 4 बजे लेबर पेन शुरू हो गया. पत्नी की हालत देख मधेश (Madesh) ने तुरंत ही 108 नंबर पर फोन किया, लेकिन सड़कों की बुरी स्थिति के कारण उसने अंदर गांव में आने से मना कर दिया. कुमारी की हालत बिगड़ते देख परिजनों ने कुछ गांव वालों के साथ मिलकर उसे बांस में कपड़ा बांध उसकी सहायता से 2 घंटे में अच्छी सड़क तक ले गए.

2 घंटे का सफर तय करने के बाद भी नहीं मिली एंबुलेंस
Loading...

सड़कों की इतनी बुरी हालत के बाद भी जैसे-तैसे गांव वालों ने उसे वहां तक सुरक्षित पहुंचा दिया, लेकिन 6 किमी की दूरी तय करने के बाद भी उन लोगों को वहां एंबुलेंस नहीं मिली. एंबुलेंस के देर से आने के कारण कुमारी का लेबर पेन बहुत ज्यादा बढ़ गया, जिसके चलते उसे बरगुर के प्राथमिक अस्पताल में ही भर्ती कराना पड़ा.

मां और बच्चा दोनों सुरक्षित
बरगुर के प्राथमिक अस्पताल में कुमारी ने बेटे को जन्म दिया. परिजनों ने बताया कि मां और बच्चा दोनों की हालत ठीक है.

इस छोटे से गांव में 100 से अधिक परिवार रहते हैं. यहां के ग्रामीणों के लिए खेती और पशु पालन ही मुख्य व्यवसाय है. एक ग्रामीण एम सुरेश ने कहा कि घरों तक पहुंंचने के लिए हमारे पास सड़क तक नहीं है. बारिश के मौसम में बहुत सी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. हम अक्सर बीमार और गर्भवती महिलाओं को कपड़े के पालने में इसी तरह बरगुर तक ले जाते हैं.

ये भी पढ़ें : तीसरी मंजिल से गिरे बच्चे को नीचे खड़े लोगों ने किया 'कैच', वायरल हुआ वीडियो

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 4, 2019, 1:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...