कोविड सेंटर्स पर रेप-यौन शोषण को लेकर महिला आयोग ने की महाराष्ट्र सरकार की खिंचाई

राष्ट्रीय महिला आयोग ने राज्य सरकार से कोविड सेंटर्स पर सीसीटीवी कैमरे और महिला स्टाफ की मांग की है.
राष्ट्रीय महिला आयोग ने राज्य सरकार से कोविड सेंटर्स पर सीसीटीवी कैमरे और महिला स्टाफ की मांग की है.

तीन दिवसीय दौरे पर मुंबई में मौजूद महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा (Rekha Sharma) ने कहा है कि राज्य सरकार को इन घटनाओं के मद्देनजर मानक प्रचालन प्रक्रिया (Standard Operating Procedures- SOP’s) सुनिश्चित करनी चाहिए. सेंटर्स पर सीसीटीवी कैमरे लगाने और फीमेल स्टाफ की भर्ती की मांग की गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 20, 2020, 8:42 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय महिला आयोग (National Commission for Women-NCW) ने कोविड सेंटर्स पर रेप और यौन शोषण की घटनाओं को लेकर महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) की खिंचाई की है. तीन दिवसीय दौरे पर मुंबई में मौजूद महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा (Rekha Sharma) ने कहा है कि राज्य सरकार को इन घटनाओं के मद्देनजर मानक प्रचालन प्रक्रिया (Standard Operating Procedures- SOP’s) सुनिश्चित करनी चाहिए.

कोविड सेंटर्स पर महिला अटेंडेंट की गैरमौजूदगी
उन्होंने कहा कि कोविड सेंटर्स पर बदइंतजामी की वजह से यौन शोषण जैसी अपराध की घटनाएं सामने आईं. इन सेंटर्स पर फीमेल अटेंडेंट नहीं मौजूद थीं जो महिला रोगियों का खयाल रखतीं. प्रशासन ने मेल अटेंडेंट्स के पुराने इतिहास को भी चेक नहीं किया. ये पूर्णत: लापरवाही का मामला है. मैंने सेंटर्स पर सीसीटीवी कैमरे लगाने और फीमेल स्टाफ की भर्ती करने को कहा है.

गवर्नर, मुख्य सचिव, पुलिस कमिश्नर से मुलाकात
हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक रेखा शर्मा ने गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी के अलावा मुख्य सचिव संजय कुमार और मुंबई पुलिस कमिश्नर परम बीर सिंह से भी मुलाकात की. उन्होंने संजय कुमार और परम बीर सिंह से दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. हालांकि रेखा शर्मा खुद किसी कोविड सेंटर में नहीं गईं. वो कुछ ही दिनों पहले कोरोना से रिकवर हुई हैं.



जबरिया धर्मांतरण का मसला भी उठाया
इसके अलावा रेखा शर्मा ने महाराष्ट्र में जबरिया धर्मांतरण के मसले को भी उठाया है. उन्होंने औरंगाबाद में एक महिला के धर्मांतरण का जिक्र किया. बताया कि उस महिला का धर्मांतरण बलपूर्वक किया गया. हालांकि वो धर्मांतरण की घटनाओं को लेकर कोई ठोस संख्या नहीं बता सकीं. उन्होंने कहा कि मैंने प्रशासन से इसे लेकर डेटा कलेक्ट करने को कहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज