Home /News /nation /

चीन को भारत का स्पष्ट संदेश- सीमाओं की मौजूदा स्थिति को बदलने की एकतरफा कोशिश हमें मंजूर नहीं

चीन को भारत का स्पष्ट संदेश- सीमाओं की मौजूदा स्थिति को बदलने की एकतरफा कोशिश हमें मंजूर नहीं

भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर.

भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर.

India-China Border Row : भारत और चीन (India-China) के बीच मई 2020 से ही सीमा पर तनाव की स्थिति है. दोनों तरफ से हजारों की तादाद में सैनिक भी अत्याधुनिक सैन्य साजो-सामान के साथ सीमा पर तैनात हैं. इस दौरान जून-2020 में लद्दाख (Ladakh) के गलवान (Galwan) में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प भी हुई थी. इसमें 20 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे. वहीं चीन के मारे गए सैनिकों की संख्या 40 से 45 के करीब बताई गई थी.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. भारत ने चीन को स्पष्ट संदेश दिया है. इसमें कहा है कि सीमाओं की मौजूदा स्थिति को बदलने की किसी भी एकतरफा कोशिश को हम मंजूर नहीं कर सकते. हालांकि इसके साथ यह भी उम्मीद जताई है कि मामला कितना भी जटिल क्यों न हो. कितना भी वक्त क्यों न लगे. भारत (India) और चीन (China) मिलकर इसे बातचीत से सुलझा लेंगे.

फ्रांस की राजधानी पेरिस में अंतरराष्ट्रीय संबंधों पर आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने यह बात कही है. उनके मुताबिक, ‘हमारा रुख बिल्कुल स्पष्ट है. हम सीमाओं की स्थिति में एकतरफा बदलाव की किसी भी कोशिश को स्वीकार नहीं करेंगे.’ इसके साथ विदेश मंत्री ने यह भी जोड़ा, ‘वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर विवाद के बिंदुओं को सुलझाने की दिशा में भारत और चीन ने महत्वपूर्ण प्रगति की है. दोनों पक्षों के बीच 13 दौर की बातचीत हो चुकी है. लेकिन अब भी कुछ बिंदु हैं, जिन्हें सुलझाया जाना बाकी है.’

गौरतलब है कि भारत और चीन (India-China) के बीच मई 2020 से ही सीमा पर तनाव की स्थिति है. दोनों तरफ से हजारों की तादाद में सैनिक भी अत्याधुनिक सैन्य साजो-सामान के साथ सीमा पर तैनात हैं. इस दौरान जून-2020 में लद्दाख (Ladakh) के गलवान (Galwan) में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प भी हुई थी. इसमें 20 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे. वहीं चीन के मारे गए सैनिकों की संख्या 40 से 45 के करीब बताई गई थी. हालांकि चीन ने 5 सैनिकों की शहादत स्वीकार की थी, वह भी घटना होने के महीनों बाद.

इसके बाद सैन्य और राजनयिक स्तर पर हुए प्रयासों के नतीजे में भारत और चीन ने लद्दाख के पैंगोंग लेक, गोगरा और गलवान से अपने सैनिक काफी पीछे हटा लिए थे. लेकिन हॉट स्प्रिंग और उसके आसपास के कुछ इलाकों को लेकर विवाद अब भी बना हुआ है. संभवत: इसी वजह से इस जनवरी में ही भारत के सेनाध्यक्ष जनरल एमएम नरवणे (Army Chief MM Naravane) ने कहा था, ‘चीन के मोर्चे पर भारत के लिए अभी चुनौती कम नहीं हुई है.’

Tags: Hindi news, India china border dispute, S Jaishankar

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर