आंध्र प्रदेश में प्रसिद्ध लक्ष्मी नरसिंह स्वामी मंदिर का लकड़ी का रथ आग में जला

आंध्र प्रदेश में प्रसिद्ध लक्ष्मी नरसिंह स्वामी मंदिर का लकड़ी का रथ आग में जला
आंध्र प्रदेश में प्रसिद्ध लक्ष्मी नरसिंह स्वामी मंदिर का लकड़ी का रथ आग में जला

सागौन की लकड़ी से बना 40 फुट का यह रथ मंदिर परिसर के एक शेड में खड़ा था. आम तौर पर इस रथ का उपयोग भगवान के आनुष्ठानिक विवाह में ‘राधोत्सवम’ के दौरान किया जाता है.

  • Share this:
अमरावती. आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) में अमरावती जिले के अंतरवेदी इलाके में रविवार तड़के प्रसिद्ध लक्ष्मी नरसिंह स्वामी मंदिर (laxmi narasimha swamy temples) का लकड़ी का रथ आग की एक घटना में जल गया. राज्य सरकार ने आग के कारणों का पता लगाने के लिए इस घटना की जांच का आदेश दिया है. धर्मादा मंत्री वेलमपल्ली श्रीनिवास ने यहां बताया कि अतिरिक्त आयुक्त रामचंद्र मोहन को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है और उनसे पुलिस के साथ समन्वय कायम कर आग की वजह का पता लगाने को कहा गया है.

सागौन की लकड़ी से बना 40 फुट का यह रथ मंदिर परिसर के एक शेड में खड़ा था. आम तौर पर इस रथ का उपयोग भगवान के आनुष्ठानिक विवाह में ‘राधोत्सवम’ के दौरान किया जाता है. पुलिस ने कहा कि वह इस बारे में जांच कर रही है कि आग शॉर्ट सर्किट की वजह से लगी या फिर किसी ने लगाई.

इसे भी पढ़ें : आंध्र प्रदेश: फिल्ममेकर के घर में चोरी करने का आरोप लगा तो युवक को बेरहमी से पीटा और सिर मुंडवाया



काकीनाड़ा से एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने फोन पर कहा कि कुछ महीने पहले एस पी एस नेल्लोर में भी ऐसी ही घटना हुई थी और यह सामने आया कि मानसिक रूप से रुग्ण एक व्यक्ति ने मंदिर के रथ में आग लगा दी थी, ऐसे में सभी पहलुओं को लेकर जांच की जा रही है.
इसे भी पढ़ें :- आंध्र प्रदेश सरकार ने रमी, पोकर जैसे ऑनलाइन गेम पर लगाया प्रतिबंध

धर्मादा मंत्री ने इस घटना पर अपनी नाराजगी प्रकट करते हुए कहा कि अतिरिक्त आयुक्त की जांच पूरी हेाने के बाद उपयुक्त कार्रवाई की जाएगी. इस बीच, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सोमू वीर राजू ने इस घटना की निंदा की और मुख्यमंत्री वाई एस जगनमोहन रेड्डी से तीन दिन के अंदर दोषियों के खिलाफ मामला दर्ज करने का अनुरोध किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज