करुणानिधि ने 30 साल पहले ही गढ़ ली थी अपने ताबूत पर लिखी ये इबारत

करुणानिधि ने 30 साल पहले ही गढ़ ली थी अपने ताबूत पर लिखी ये इबारत
जिस ताबुत में रखकर करुणानिधि को दफनाया जाएगा

कविता और साहित्य से करुणानिधि का प्रेम जगजाहिर है, यह संदेश कलैगनार की उनके सर्मथकों और शुभचिंतकों के नजरिए से समीक्षा करता है.

  • News18India
  • Last Updated: August 9, 2018, 12:50 AM IST
  • Share this:
जिस शख्स ने कभी विश्राम नहीं किया अब वह चैन की नींद सो रहा है. यह संदेश उस ताबूत पर लिखा गया है जिसमें रखकर करुणानिधि को दफनाया गया. इन शब्दों को कलैगनार ने 30 साल पहले अपनी समाधि पर लिखने के लिए गढ़ लिया था.

कविता और साहित्य से करुणानिधि का प्रेम जगजाहिर है. यह संदेश कलैगनार की उनके सर्मथकों और शुभचिंतकों के नजरिए से लिखा गया है.

द्रविड राजनीति के आखिरी दिग्गज करुणानिधि को मरीना बीच के समाधि परिसर में दफनाया जाएगा जो सीएन अन्नादुरई, एमजी रामचंद्रन और जे जयललीता का भी स्मारक गृह है.



ये भी पढ़ें: तमिल पॉलिटिक्स के 'स्क्रिप्टराइटर' करुणानिधि से जुड़ी 20 खबरें



करुणानिधि का अंतिम संस्कार शाम 4 बजे राजाजी हॉल से शुरू होगा जहां उनके पार्थिव शरीर को सार्वजनिक श्रद्धांजलि के लिए रखा गया है. उनकी अंतिम यात्रा शिवानंद रोड और थंथाई पेरियार रोड से होते हुए अन्ना स्कवायर पहुंचेगी. करुणानिधि को उनके मेंटौर अन्नादुराई के मकबरे के समीप दफनाया जाएगा.

डीएमके की तरफ से जारी एक बयान में पार्टी समर्थकों और लोगों से अपील की गई है कि वे करुणानिधि की अंतिम यात्रा के दौरान शांत रहकर असाधारण नेता को सम्मान दें.

ये भी पढ़ें: सोनिया ने स्टालिन को लिखी भावुक चिट्ठी, कहा- 'मेरे लिए पिता समान थे करुणानिधि'

स्वर्णिम ताबूत जिसमें कि करुणानिधि को दफनया जाएगा उसमें तमिल में लिखा होगा ‘शख्स जिसने ताउम्र कभी विश्राम नहीं किया वह चैन की नींद सो रहा है.’

ये भी पढ़ें: मरीना बीच पर दफनाए जाने वाले तमिलनाडु के पहले पूर्व मुख्यमंत्री होंगे करुणानिधि
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading