लाइव टीवी

WHO ने कहा- कोरोना सोर्स का होगा स्वतंत्र आकलन, बैठक में चीन ने दी सफाई

News18Hindi
Updated: May 19, 2020, 9:23 AM IST
WHO ने कहा- कोरोना सोर्स का होगा स्वतंत्र आकलन, बैठक में चीन ने दी सफाई
महामारी से निपटने के लिए नए फाउंडेशन की घोषणा

विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) 18 मई से शुरू हुई बैठक में कोरोना महामारी (Covid-19) की निष्पक्ष, स्वतंत्र और व्यापक जांच के लिए तैयार हो गया है.

  • Share this:
जिनेवा. विश्व स्वास्थ्य सभा की 18 मई से शुरू हुई बैठक में सबसे बड़ा मुद्दा दुनिया में फ़ैली कोरोना वायरस महामारी है. भारत समेत 62 देशों ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) के सामने संक्रमण का निष्पक्ष, स्वतंत्र और व्यापक मूल्यांकन का प्रस्ताव रखा था. वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए शुरू हुई इस बैठक में विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक टेड्रोस ऐडरेनॉम ग़ैबरेयेसस, 62 देशों की बात मानते हुए इस महामारी को लेकर सामने आई संयुक्त राष्ट्र स्वास्थ्य एजेंसी की प्रतिक्रिया के मद्देनजर एक स्वतंत्र आकलन के लिए तैयार हो गए हैं.

विभिन्न देशों के प्रमुख हुए शामिल
सोमवार से शुरू हुई इस बैठक का उद्घाटन संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने किया. बैठक में विभिन्न देशों के सरकार प्रमुख, राष्ट्र प्रमुख और स्वास्थ्य मंत्री शामिल हो रहे हैं. गुतारेस ने एक वीडियो संदेश में कहा कि कई देशों ने निर्देशों का पालन नहीं किया और अपनी रणनीतियां अपनाई जिसकी कीमत आज बाकी के सभी देशों को चुकाना पड़ रहा है.

चीन ने दी बैठक में सफाई



चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग भी कोविड-19 महामारी की जांच के लिए तैयार है. उन्होंने कहा कि चीन इस जांच के लिए तैयार है बस स्वतंत्र और निष्पक्ष तरीके से जांच होनी चाहिए. चीन ने अपनी सफाई देते हुए कहा कि हमने डब्ल्यूएचओ और अन्य देशों को महामारी से जुड़े सभी आंकड़े समय पर उपलब्ध कराए थे. साथ ही महामारी पर नियंत्रण और उपचार के अनुभव को भी सभी देशों के साथ शेयर किया था. चीन ने कहा, वुहान शहर में सबसे पहला मामला आया लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वायरस वुहान में उत्पन्न हुआ है.



कई देशों ने दिया प्रस्ताव को दिया समर्थन
ग्यारह पन्नों की इस रिपोर्ट में स्वतंत्र जांच की मांग करते हुए ऑस्ट्रेलिया की तरफ से ये ड्रॉफ्ट तैयार किया गया है, भारत के अलावा जापान, यूनाइटेड किंगडम, कनाडा, न्यूजीलैंड, दक्षिण कोरिया, तुर्की, रूस, इंडोनेशिया, मैक्सिको, ब्राजील और सभी 27 यूरोपीय संघ के सदस्यों द्वारा इसे समर्थन दिया गया है. इस प्रस्ताव को सोमवार को विधानसभा में लिया जाने की संभावना है.

सार्क देशों से बांग्लादेश और भूटान ने किए हस्ताक्षर
इस प्रस्ताव पर पाकिस्तान, नेपाल, श्रीलंका, मालदीव और अफगानिस्तान ने हस्ताक्षरकर्ता नहीं किए हैं. वहीं सार्क देशों से केवल बांग्लादेश और भूटान ने हस्ताक्षर किए हैं चीन के वुहान से शुरू हुआ कोरोना वायरस आज पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले चुका है. दुनियाभर में कोरोना वायरस के 40 लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं और 3 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

ये भी पढ़ें : ICMR ने बदले कोरोना टेस्ट के नियम, अब जांच के दायरे में आएंगे ऐसे लोग

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 19, 2020, 8:06 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading