होम /न्यूज /राष्ट्र /दुनिया का सबसे बड़ा सफारी पार्क बनेगा भारत में, 10 हजार एकड़ में होगा फैला, CM खट्टर ने की घोषणा

दुनिया का सबसे बड़ा सफारी पार्क बनेगा भारत में, 10 हजार एकड़ में होगा फैला, CM खट्टर ने की घोषणा

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर इस सिलसिले में शारजाह सफारी देखने गये थे (News18)

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर इस सिलसिले में शारजाह सफारी देखने गये थे (News18)

हरियाणा (Haryana) सबसे बड़ा जंगल सफारी पार्क (Forest Park) विकसित करेगा जो 10,000 एकड़ भूभाग में फैला होगा. राज्य सरकार ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

हरियाणा सबसे बड़ा जंगल सफारी पार्क विकसित करेगा जो 10,000 एकड़ भूभाग में फैला होगा
सफारी पार्क गुरूग्राम और नूंह जिलों के अरावली क्षेत्र में 10,000 एकड़ क्षेत्र में फैला होगा
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर इस सिलसिले में शारजाह सफारी देखने गये थे

चंडीगढ़: अफ्रीका (Africa) के बाहर, हरियाणा (Haryana) सबसे बड़ा जंगल सफारी पार्क (Forest Park) विकसित करेगा जो 10,000 एकड़ भूभाग में फैला होगा. राज्य सरकार ने बृहस्पतिवार को एक बयान में कहा कि यह सफारी पार्क गुरूग्राम (gurugram) और नूंह (Nuh) जिलों के अरावली क्षेत्र में 10,000 एकड़ क्षेत्र में फैला होगा. बयान में दावा किया गया है, ‘‘ यह परियोजना दुनिया में ऐसी सबसे बड़ी परियोजना होगी.’’ फिलहाल अफ्रीका के बाहर शारजाह में विशेष रूप से विकसित ऐसा सबसे बड़ा सफारी पार्क है. यह करीब 2,000 एकड़ क्षेत्र में फैला है और उसका उद्घाटन फरवरी, 2022 में हुआ था.

सरकार ने बयान में कहा, ‘‘ प्रस्तावित अरावली पार्क आकार में इससे पांच गुणा से भी अधिक होगा और उसमें सरीसृप एवं उभयचर प्राणियों के स्थल, पक्षी पार्क, बाघ श्रेणी के प्राणियों के चार क्षेत्र, शाकाहार प्राणियों का विशाल क्षेत्र, जलीय जीव-जंतुओं का क्षेत्र, आंगतुक एवं पर्यटन क्षेत्र, प्राणी उद्यान, बायोमास, आदि होंगे. ’’ राज्य सरकार ने कहा कि केंद्रीय वन एवं पर्यावरण तथा जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेंद्र यादव और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर इस सिलसिले में शारजाह सफारी देखने गये थे.

हरियाणा में बड़ा हादसाः डिवाइडर फांदकर बस से भिड़ी कार, सिर धड़ से हुआ अलग, 5 युवकों की मौत

खट्टर बुधवार को एक दिवसीय यात्रा पर दुबई पहुंचे थे. बृहस्पतिवार को लौटने के बाद खट्टर ने कहा कि हरियाणा के एनसीआर क्षेत्र में जंगल सफारी के विकास की प्रचुर संभावना है. उन्होंने कहा कि जंगल सफारी योजना न केवल पर्यटन को बढ़ावा देगी बल्कि स्थानीय लोगों को रोजगार का अवसर भी उपलब्ध कराएगी. उन्होंने कहा, ‘‘ हरियाणा में जंगल सफारी परियोजना पर्यावरण , वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय तथा हरियाणा सरकार की संयुक्त परियोजना होगी. केंद्र सरकार परियोजना के लिए हरियाणा को धन उपलब्ध कराएगी.’’

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस परियोजना के लिए अभिरूचि पत्र जारी किया गया है तथा ऐसे सफारी केंद्र का डिजाइन तैयार करने एवं उसके संचालन के लिए अंतरराष्ट्रीय अनुभव वाली दो कंपनियों की छंटनी की गयी है. उनके अनुसार ये दोनों कंपनियां संबंधित स्पर्धा में भाग लेंगी. खट्टर ने कहा कि केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण ने क्षेत्र का मूल्यांकन अध्ययन कर लिया है और वह ऐसे पार्क की स्थापना के लिए तकनीकी व्यवहार्यता पर राजी हो गया है.

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें