दुनिया के इस देश में लगीं सबसे ज्यादा वैक्सीन, फिर भी कोरोना के मामले भारत से ज्यादा

सेशेल्स में तेजी से बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले (सांकेतिक तस्वीर)

Coronavirus Cases: नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, सेशेल्स की 60 प्रतिशत से अधिक आबादी का पूरी तरह से टीकाकरण किया गया है और लगभग 70 प्रतिशत को कोविड-19 वैक्सीन की कम से कम एक खुराक दी गई है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. हिंद महासागर में स्थित द्वीपीय देश सेशेल्स (Seychelles) ने मार्च में अपनी अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने के लिए पर्यटकों के लिए अपनी सीमाओं को फिर से खोलने की घोषणा की. सेशेल्स पर्यटन उद्योग पर बहुत अधिक निर्भर है. द्वीपसमूह ने लगभग 100,000 की आबादी को टीका लगाने के लिए एक आक्रामक टीकाकरण अभियान शुरू किया और जल्द ही दुनिया का सबसे ज्यादा टीकाकरण वाला देश बन गया.

    सेशेल्स ने संयुक्त अरब अमीरात से डोनेशन के तौर पर चीन के साइनोफर्म टीकों का उपयोग करके कोरोनावायरस (कोविड -19) के खिलाफ अपनी आबादी का टीकाकरण शुरू किया. बाद में, सेशेल्स ने कोविशिल्ड टीके का उपयोग किया, जो कि पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) द्वारा निर्मित एस्ट्राज़ेनेका के शॉट का एक संस्करण है.

    ये भी पढ़ें- कोरोना वायरस से जंग में यूरोपीय संघ भारत के साथ, PM मोदी ने मांगी TRIPS में छूट

    60 प्रतिशत से ज्यादा आबादी का हो चुका है टीकाकरण
    नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, सेशेल्स की 60 प्रतिशत से अधिक आबादी का पूरी तरह से टीकाकरण किया गया है और लगभग 70 प्रतिशत को कोविड-19 वैक्सीन की कम से कम एक खुराक दी गई है. पूरी तरह से टीकाकरण आबादी का प्रतिशत इज़राइल और यूनाइटेड किंगडम जैसे अन्य वैक्सीन दिग्गजों की तुलना में अधिक है.

    इन प्रभावशाली टीकाकरण के आंकड़ों के बावजूद, इस सप्ताह सेशेल्स में सबसे ज्यादा कोविड-19 के मामले सामने आए हैं, जो भारत से भी बदतर हैं, जहां आबादी के 3 प्रतिशत का भी पूरी तरह से टीकाकरण नहीं हुआ है. अवर वर्ल्ड इन डेटा के अनुसार, सेशेल्स में प्रति व्यक्ति प्रतिदिन नए कोविड -19 मामलों के लिए नवीनतम 7-दिन का औसत भारत की तुलना में दोगुने से अधिक है.

    सेशेल्स में महामारी की शुरुआत के बाद से लगभग 7,000 कोविड -19 मामले सामने आए हैं, लेकिन यह 100,000 से कम आबादी वाले देश के लिए एक बड़ी बात है. इस सप्ताह के शुरू में, सेशेल्स ने संक्रमण को रोकने के लिए दो सप्ताह के लिए स्कूलों को बंद करने और खेल गतिविधियों को रद्द करने सहित नए उपायों की घोषणा की है.

    वैक्सीन की प्रभावशीलता के बारे में विशेषज्ञ क्या कहते हैं, इसके लिए सेशेल्स में स्थिति को करीब से देखा जा रहा है. वाशिंगटन पोस्ट की रिपोर्ट के अनुसार, नए मामलों में वृद्धि की पुष्टि हो सकती है कि देश में इस्तेमाल होने वाले कोविड -19 टीके "तुलनात्मक रूप से कम प्रभावशीलता वाले हैं."

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.