सोमनाथ मंदिर सहित गुजरात के धार्मिक स्थल खुलेंगे, पाली में होगी पूजा, टोकन से होगा प्रवेश

सोमनाथ मंदिर सहित गुजरात के धार्मिक स्थल खुलेंगे, पाली में होगी पूजा, टोकन से होगा प्रवेश
कोरोना वायरस प्रसार के चलते सोमनाथ मंदिर महीनों से बंद था (फाइल फोटो)

कुछ धार्मिक स्थलों ने सामाजिक मेल-जोल से दूरी (Social Distancing) बनाए रखने और भीड़ जमा होने से बचने के लिये पाली (Shift) के अनुसार प्रार्थना (Prayer) आयोजित करने और श्रद्धालुओं को प्रवेश का समय देने के लिये टोकन प्रणाली (Token system) शुरू करने का फैसला लिया है.

  • Share this:
अहमदाबाद. गुजरात (Gujarat) में कोविड-19 (Covid-19) निषेध क्षेत्रों से बाहर स्थित मंदिर (Temple), मस्जिद और गिरजाघर समेत अन्य धार्मिक स्थल (Religious Places) दो महीने के बाद सोमवार से सभी ऐहतियाती कदम उठाते हुए अपने दरवाजे श्रद्धालुओं (Pilgrims) के लिये खोलने की योजना बना रहे हैं.

कुछ धार्मिक स्थलों ने सामाजिक मेल-जोल से दूरी (Social Distancing) बनाए रखने और भीड़ जमा होने से बचने के लिये पाली (शिफ्ट) के अनुसार प्रार्थना (Prayer) आयोजित करने और श्रद्धालुओं को प्रवेश का समय देने के लिये टोकन प्रणाली (Token system) शुरू करने का फैसला लिया है.

सोमवार से खुलेगा सोमनाथ मंदिर
गिर सोमनाथ जिले (Gir Somnath District) में प्रसिद्ध सोमनाथ मंदिर सोमवार से स्थानीय श्रद्धालुओं के लिए खुल जाएगा, लेकिन अन्य जिलों के श्रद्धालुओं को दर्शन के लिये 12 जून से ऑनलाइन पंजीकरण कराना होगा. मंदिर न्यास के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी.
उन्होंने कहा कि श्रद्धालुओं को अनिवार्य रूप से मास्क पहनने, मंदिर परिसर में प्रवेश करने से पहले संक्रमण मुक्त होने और बुजुर्ग लोगों (65 वर्ष से अधिक आयु वाले) तथा बच्चों (10 वर्ष से कम) को साथ न लाने के लिये कहा गया है.



बनासकांठा का अंबाजी मंदिर 12 जून से खुलेगा
उत्तरी गुजरात में प्रमुख तीर्थस्थलों में से एक बनासकांठा जिले का अंबाजी मंदिर (Ambaji Temple) 12 जून से खुल जाएगा. यहां श्रद्धालुओं को तीन पालियों में दर्शन की अनुमति होगी. ये पालियां सुबह 7.30 बजे शुरू होकर रात 10.15 बजे समाप्त होंगी.

मंदिर न्यास के एक बयान में कहा गया है कि वह आरती की अनुमति नहीं देगा. आगंतुकों को दर्शन के लिये तय समय का टॉकन दिया जाएगा.

मंदिर के अलावा मस्जिद और गिरजे भी सामाजिक दूरी का पालन करते हुये खुलेंगे
मंदिर के अलावा मस्जिद (Mosque) और गिरजाघर भी सामाजिक मेलजोल से दूरी का पालन सुनिश्चित करते हुए इबादत के लिये तैयारियां कर रहे हैं.

अहमदाबाद की ऐतिहासिक जामा मस्जिद में भी पाली के अनुसार शुक्रवार की नमाज पढ़ाई जाएंगी. मस्जिद का प्रबंधन देखने वाली गुजरात चांद समिति के सदस्य अनीस देसाई ने यह जानकारी दी.

यह भी पढ़ें: 30 जून तक नीलकंठ और गोलज्यू देवता के दर्शन नहीं होंगे, चारधाम यात्रा पर असमंजस
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading