लद्दाख में शहीद भारतीय जवानों को दी गई सलामी, जल्द परिजनों को सौंपा जाएगा शव

लद्दाख में शहीद भारतीय जवानों को दी गई सलामी, जल्द परिजनों को सौंपा जाएगा शव
लद्दाख के आर्मी अस्पताल के बाहर शहीद जवानों को दी गई सलामी.

गलवान घाटी (Galwan Valley) में 15-16 जून की दरमियानी रात को हुई झड़प में भारत (India) के कमांडिंग अफसर समेत 20 जवान शहीद हो गए थे.

  • Share this:
नई दिल्ली. लद्दाख सीमा (Ladakh Lac Border) पर भारत (India) और चीन (China) के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प में शहीद हुआ 20 भारतीय सैनिको लद्दाख के आर्मी अस्पताल में सलामी दी गई. इस दौरान उनके शवों पर फूल चक्र चढ़ाया गया. लद्दाख से आए इस वीडियो को देखने के बाद इस बात की संभावना है कि सभी शहीद जवानों के शव जल्द ही उनके परिजनों को सौंप दिए जाएंगे.

गौरतलब है कि गलवान घाटी में 15-16 जून की दरमियानी रात को हुई झड़प में भारत के कमांडिंग अफसर समेत 20 जवान शहीद हो गए थे. 4 जवानों की हालत नाजुक बनी हुई है. लद्दाख में 14 हजार फीट ऊंची गलवान घाटी में LAC पर ये झड़प 3 घंटे चली. यह हमला पत्थरों, लाठियों और धारदार चीजों से किया गया. इसी गलवान में 1962 की जंग में 33 भारतीयों की जान गई थी.


मंगलवार को ही इस घटना के बाद दिल्ली में बैठकों का दौर चला. पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत समेत तीनों सेनाओं के प्रमुखों के साथ बैठक की. इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में सुरक्षा मामलों की कैबिनेट की बैठक हुई. जिसमें प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री, गृह मंत्री और वित्त मंत्री शामिल हुए.



इसे भी पढ़ें :- चीनी सैनिकों से हुई झड़प में शहीद हुए जवानों के नाम आए सामने, देश को आप पर है गर्व

पीएम मोदी ने 19 को बुलाई सर्वदलीय बैठक
चीन से भारत को 45 साल बाद एक बार फिर धोखा मिला है. लद्दाख की गलवान घाटी में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर हुई हिंसक झड़प में 20 सैनिकों के शहीद होने के बाद मोदी सरकार एक्शन मोड में आ गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 जून को शाम 5 बजे सर्वदलीय बैठक बुलाई है. इस बैठक में अलग-अलग पार्टियों के अध्यक्ष शामिल होंगे, जिसमें LAC के मौजूदा हालात पर चर्चा होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज