भारतीय वायुसेना के लापता AN-32 विमान का मलबा मिला, सवार 13 लोगों की तलाश जारी

एक हेलीकॉप्टर सर्च टीम ने भारतीय वायुसेना AN-32 के मलबे को देखा हैो

News18Hindi
Updated: June 3, 2019, 7:13 PM IST
भारतीय वायुसेना के लापता AN-32 विमान का मलबा मिला, सवार 13 लोगों की तलाश जारी
एक हेलीकॉप्टर सर्च टीम ने भारतीय वायुसेना AN-32 के मलबे को देखा हैो
News18Hindi
Updated: June 3, 2019, 7:13 PM IST
असम के जोरहाट एयरबेस से अरुणाचल प्रदेश के मेन्चुका के लिए उड़ान भरने वाले भारतीय वायुसेना के विमान IAF AN-32 का मलबा मिलने की खबर है. मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि एक हेलीकॉप्टर सर्च टीम ने भारतीय वायुसेना AN-32 के मलबे को देखा है. विमान में सवार लोगों की फिलहाल तलाश जारी है.

इस विमान में करीब 13 लोगों के मौजूद होने की जानकारी मिली थी. विमान का ग्राउंड स्टाफ से आखिरी संपर्क करीब 1 बजे हुआ था. विमान ने जोरहाट दोपहर 12:25 पर उड़ान भरी थी.

पता लगाने के लिए भेजे गए थे दो विमान

भारतीय वायु सेना ने IAF AN-32 विमान का पता लगाने के लिए एक सुखोई -30 लड़ाकू विमान और सी -130 स्पेशल ऑप्स विमानों को भेजा गया था.

AN-32 रूस निर्मित वायुयान है और वायुसेना बड़ी संख्या में इन विमानों का इस्तेमाल करती है. यह दो इंजन वाला ट्रर्बोप्रॉप परिवहन विमान है. मेन्चुका एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड चीन की सीमा से ज्यादा दूर नहीं है.

मेन्चुका एडवांस लैंडिंग ग्राउंड, जहां विमान को उतरना था, को पिछले साल 12 जुलाई को दोबारा शुरू किया गया है. 2013 से ये बंद था.

3 साल पहले भी लापता हुए था एक AN-32 विमान
Loading...

बता दें  3 साल पहले भी ऐसे ही एक AN-32 विमान लापता हुआ था जिसका अभी तक मलबा भी नहीं मिल पाया है. अभी तक 9 AN-32 विमान क्रैश हो चुके हैं.

अब तक ये AN-32 विमान हुए हैं क्रैश


 -22 मार्च 1986 को जम्मू में दुर्घटना का शिकार हुआ.

-25 मार्च 1986 को अरब सागर में दुर्घटना.

-1991-92 में केरल में दुर्घटना का शिकार हुआ.

-26 मार्च 1992 को असम में दुर्घटना का शिकार हुआ.

-एक अप्रैल 1992 को पंजाब में दुर्घटना का शिकार हुआ.

-सात मार्च 1999 को दिल्ली में दुर्घटना का शिकार हुआ.

-नौ जून 2009 को अरुणाचल प्रदेश में दुर्घटना का शिकार हुआ.

-20 सितंबर 2014 को चंडीगढ़ में दुर्घटना का शिकार हुआ.

-22 जुलाई 2016 को बंगाल की खाड़ी में गायब हो गया.

ये हैं AN-32 की खूबियां

यह विमान 1984 में सोवियत रूस से खरीदा गया था. जिस समय इसे खरीदा गया था तब विमान की उम्र 25 साल थी. लेकिन समय और ज़रूरत के हिसाब से इस विमान को अपग्रेड किया जा सकता है. भारतीय वायुसेना के पास करीब 100 AN-32 विमान हैं. यह दो इंजन वाला मालवाहक विमान है जो कि पैरा जंप के काम भी आता है. इसकी अधिकतम स्पीड 530 किमी प्रति घंटा है.


एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 3, 2019, 6:10 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...