होम /न्यूज /राष्ट्र /

लेखनी में रूचि रखने वालों को घर बैठे काम दिला रही है 'राइटर्स कम्युनिटी', जानें

लेखनी में रूचि रखने वालों को घर बैठे काम दिला रही है 'राइटर्स कम्युनिटी', जानें

राइटर्स कम्युनिटी की शुरुआत एक व्हाट्सएप ग्रुप के रूप में हुई थी. केवल तीन सदस्यों के साथ शुरू हुआ यह समुदाय वर्तमान में 450 से अधिक सदस्यों तक बढ़ गया है.

राइटर्स कम्युनिटी की शुरुआत एक व्हाट्सएप ग्रुप के रूप में हुई थी. केवल तीन सदस्यों के साथ शुरू हुआ यह समुदाय वर्तमान में 450 से अधिक सदस्यों तक बढ़ गया है.

इस प्लेटफॉर्म के संस्थापक अंकित कुमार का कहना है कि The Writers Community नामक एक डिजिटल पोर्टल लॉन्च किया है. यह फ्रीलांस के क्षेत्र से जुड़े लोगों हेतु एक डिजिटल मार्केटप्लेस के रुप में कार्य कर रहा है.

    नई दिल्ली. बुरे हालातों में भी अगर सोच पॉजिटिव है तो इंसान कुछ भी कर सकता है. ऐसी ही कहानी है राइटर्स काम्यूनिटी की. साल 2020 में फ्रीलांसरों को घोटालों से बचाने और उन्हें घर बैठे रोजगार देने के लिए नोएडा, उत्तर प्रदेश में स्थापित राइटर्स कम्युनिटी इसका सबसे बड़ा उदाहरण बनकर उभरी है. अंकित कुमार और शान्या दास द्वारा स्थापित राइटर्स कम्युनिटी फ्रीलांस के क्षेत्र में अब तक कई लोगों को रोजगार प्रदान कर चुकी है.

    इस प्लेटफॉर्म के संस्थापक अंकित कुमार का कहना है कि The Writers Community नामक एक डिजिटल पोर्टल लॉन्च किया है. यह फ्रीलांस के क्षेत्र से जुड़े लोगों हेतु एक डिजिटल मार्केटप्लेस के रुप में कार्य कर रहा है. इस पोर्टल पर इच्छुक लोग मात्र अपनी प्रोफाइल अपडेट करके रोजगार प्राप्त कर पाएंगे. इसके साथ ही पोर्टल पर फ्रीलांस से संबंधित विभिन्न प्रकार की जानकारियां भी साझा की जाएंगी.

    यह अपने प्रकार का पहला ऐसा डिजिटल मार्केटप्लेस होगा जहां लोगों को फ्रीलांस के क्षेत्र से संबंधित सभी कार्यों की जानकारी दी जाएगी तथा उन्हें आर्थिक रूप से स्वयं को संबल बनाने हेतु अवसर प्रदान किया जाएगा.

    अंकित कुमार द्वारा बताया गया कि राइटर्स कम्युनिटी का अगला उद्देश्य इस पोर्टल के माध्यम से महज एक साल में 1,000 लोगों को रोजगार प्रदान करना है. पोर्टल पर लोगों को एक ऐसा डिजिटल स्पेस प्रदान किया जा रहा है जहां वे अपनी रुचि तथा क्षमता के अनुसार रोजगार की तलाश कर पाएंगे. उन्होंने कहा कि ‘हमने पूर्व में केवल अकादमिक कार्य किया.

    इसमें क्वेश्चन क्रिएशन, एक्सप्लेनेशन राइटिंग, ट्रांसलेशन, प्रूफरीडिंग और डेटा एंट्री जैसे कार्य शामिल थे. लेकिन वर्तमान में सोशल मीडिया के प्रभाव को देखकर यह प्रतीत हो रहा है कि परिदृश्य अब काफी बदल गया है. बाजार में अन्य सामग्री की मांग भी बढ़ गई है. इसलिए हम अन्य फ्रीलांसरों से जुड़ने के लिए इस मार्केटप्लेस को शुरू करना चाहते हैं. इसमें न्यूज़ राइटिंग जैसे कार्यों को भी जोड़ा जाएगा.’

    अगली ख़बर