राज्यसभा में उठा UPSC की परीक्षा में सवालों के गलत हिंदी अनुवाद का मुद्दा

बीजेपी सदस्य हरनाथ सिंह यादव ने राज्यसभा में शून्यकाल के दौरान यह मुद्दा उठाया.

भाषा
Updated: August 1, 2019, 2:47 PM IST
राज्यसभा में उठा UPSC की परीक्षा में सवालों के गलत हिंदी अनुवाद का मुद्दा
बीजेपी सदस्य हरनाथ सिंह यादव ने राज्यसभा में शून्यकाल के दौरान यह मुद्दा उठाया.
भाषा
Updated: August 1, 2019, 2:47 PM IST
संघ लोकसेवा आयोग की परीक्षा में सवालों के हिन्दी और अन्य भारतीय भाषाओं में गलत अनुवाद की वजह से परीक्षार्थियों को होने वाली समस्या पर चिंता जाहिर करते हुए राज्यसभा में भाजपा के एक सदस्य ने बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि गूगल से इस तरह का गलत अनुवाद किया जाता है.

बीजेपी  सदस्य हरनाथ सिंह यादव ने राज्यसभा में शून्यकाल के दौरान यह मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा 'संघ लोकसेवा आयोग की परीक्षा में सवालों का हिन्दी और अन्य भारतीय भाषाओं में अनुवाद इस तरह होता है कि मेधावी छात्र भी उसे समझ नहीं पाते. अंग्रेजी के प्रश्नपत्रों का अनुवाद गूगल से किया जाता है. सवाल ही गलत होगा तो उत्तर कैसे दिया जा सकेगा.'

उन्होंने उदाहरण देते हुए बताया कि अंग्रेजी में लिखे शब्दों 'स्टील प्लांट' का हिन्दी में अनुवाद 'इस्पात का पौधा' लिखा गया. इसे कौन समझ पाएगा. गलत अनुवाद की वजह से हिन्दी और अन्य भारतीय भाषाओं के परीक्षार्थियों की सफलता का प्रतिशत प्रभावित होता है.

यह भी पढ़ें:  पिता के पास नहीं थे फीस चुकाने के पैसे, बेटा ऐसे बना IAS

हमारे देश में हिन्दी उपेक्षित

यादव ने कहा 'जब प्रधानमंत्री दूसरे देशों की यात्रा पर जाते हैं और वहां पर हिंदी में बोलते हैं या संयुक्त राष्ट्र जैसे अंतरराष्ट्रीय मंच पर हिंदी में भाषण देते हैं तो पूरा देश गौरवान्वित होता है. लेकिन हमारे ही देश में हिंदी किस कदर उपेक्षित है, उसका पता संघ लोकसेवा आयोग की परीक्षा में सवालों के हिन्दी और अन्य भारतीय भाषाओं में गलत अनुवाद से चल जाता है.'

उन्होंने सरकार से सिविल सेवा सर्विसेज के एप्टीट्यूट टेस्ट को बंद करने तथा हिंदी की उपेक्षा खत्म करने की मांग की. विभिन्न दलों के सदस्यों ने उनके इस मुद्दे से स्वयं को संबद्ध किया.
Loading...

यह भी पढ़ें:  पिता-भाई को खोकर भी नहीं हारी हिम्मत, पहली बार में बना IAS

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 1, 2019, 2:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...