लाइव टीवी

मामल्लापुरम में मिले दो 'महाबली', PM मोदी ने ऐसे किया जिनपिंग का स्‍वागत

भाषा
Updated: October 11, 2019, 10:00 PM IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) की यह दूसरी अनौपचारिक मुलाकात है.

  • Share this:
चेन्नई. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग शुक्रवार को जब चेन्नई पहुंचे और यहां से महाबलीपुरम गये तो लोक नर्तकों और भरतनाट्यम कलाकारों ने तमिल सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के साथ उनका स्वागत किया. बड़ी संख्या में बच्चों ने भारतीय और चीनी झंडे लहराकर उनका अभिवादन किया. जिनपिंग से पहले हेलीकॉप्टर से महाबलीपुरम पहुंचे प्रधानमंत्री ने अर्जुन तपस्या स्मारक पर चीनी नेता की अगवानी की.

परंपरागत तमिल परिधान धोती, अंगवस्त्रम और शर्ट पहने प्रधानमंत्री ने शी जिनपिंग से हाथ मिलाकर उनका स्वागत किया और दोनों नेताओं ने एक दूसरे का हालचाल पूछा. मोदी और जिनपिंग ने शाम को अनौपचारिक शिखर वार्ता भी की.

प्रधानमंत्री मोदी ने जिनपिंग को महाबलीपुरम के पंच रथ, अर्जुन तपस्या समेत कई मंदिरों के बारे में जानकारी दी तो वहीं समुद्र किनारे बने इस मंदिर की खूबसूरती से भी परिचित कराया. प्रधानमंत्री मोदी और जिनपिंग ने बाद में एक कार्यक्रम का भी लुत्फ उठाया जिसमें विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किए गए.

तमिल सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दींं

इससे पहले जिनपिंग यहां हवाईअड्डे पर पहुंचे तो उनके स्वागत के लिए तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित, मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी, उप मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम तथा तमिलनाडु विधानसभा के अध्यक्ष पी धनपाल वहां उपस्थित थे.

करीब 500 तमिल लोक कलाकारों ने ‘ताप्पट्टम’ और ‘पोई कल कुठिराई’’ समेत तमिल सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दीं. रंग-बिरंगे परिधानों में सजी महिलाओं ने भरतनाट्यम की प्रस्तुति दी.

मुस्कराते हुए शी जिनपिंग ने कलाकारों की ओर हाथ हिलाकर उनका अभिवादन स्वीकार किया. जिनपिंग के गाड़ी में बैठने से पहले मंदिर के पुजारियों ने परंपरागत तरीके से उनका स्वागत किया.
Loading...

स्कूली बच्चों ने भारतीय और चीनी झंडे लहराते हुए स्वागत किया
जैसे ही जिनपिंग हवाईअड्डे के वीवीआईपी द्वार संख्या 5 से बाहर निकले, सड़क पर दोनों ओर कतारों में खड़े स्कूली बच्चों ने भारतीय और चीनी झंडे लहराते हुए उनका स्वागत किया. हवाईअड्डे से जिनपिंग पांच किलोमीटर की यात्रा करके आईटीसी ग्रेंड चोला होटल पहुंचे जहां वह ठहरेंगे.

होटल में कुछ देर के विश्राम के बाद जिनपिंग शाम करीब 4:05 बजे सड़क मार्ग से करीब 50 किलोमीटर दूर महाबलीपुरम के लिए रवाना हुए और शाम पांच बजे इस तटीय शहर में पहुंचे. ईस्ट कोस्ट रोड पर कई जगहों पर कलाकारों ने लोक नृत्यों की प्रस्तुति और जिनपिंग के स्वागत के लिए परंपरागत संगीत की प्रस्तुति दी.

यह भी पढ़ें: LIVE: शोर मंदिर में पीएम मोदी और शी जिनपिंग, रघुपति राघव...से सांस्कृतिक कार्यक्रम का समापन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चीन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 11, 2019, 7:54 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...