यास: समीक्षा बैठक के बाद बंगाल का अलग-अलग हवाई दौरा करेंगे पीएम मोदी और सीएम ममता

कलईकुंड एयरबेस पर चर्चा के बाद दोनों नेता अलग-अलग हवाई सर्वे पर निकलेंगे. (फाइल फोटो: Shutterstock)

कलईकुंड एयरबेस पर चर्चा के बाद दोनों नेता अलग-अलग हवाई सर्वे पर निकलेंगे. (फाइल फोटो: Shutterstock)

Cyclone Yaas: सचिवालय में पत्रकारों से बातचीत के दौरान बनर्जी ने कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ओडिशा (Odisha) में तूफान प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने के बाद यहां पहुंच रहे हैं. वे दीघा के जरिए कलईकुंड पहुंचेंगे और वहां से दिल्ली के लिए उड़ान भरेंगे.'

  • Share this:

कोलकाता. यास तूफान से हुई तबाही की समीक्षा करने के लिए पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के साथ बैठक करने जा रही हैं. यह मुलाकात पश्चिम मेदिनिपुर के कलईकुंड हवाई अड्डे पर होगी. मई की शुरुआत में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) के कड़े मुकाबले के बाद दोनों नेताओं की यह पहली मुलाकात है. पीएम मोदी ओडिशा में भी हालात का जायजा लेने के लिए रवाना हो गए हैं.

खबर है कि कलईकुंड एयरबेस पर चर्चा के बाद दोनों नेता अलग-अलग हवाई सर्वे पर निकलेंगे. बीते हफ्ते सीएम बनर्जी ने पीएम मोदी की कोविड समीक्षा बैठक में शामिल हुई थीं. सचिवालय में पत्रकारों से बातचीत के दौरान बनर्जी ने कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ओडिशा में तूफान प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने के बाद यहां पहुंच रहे हैं. वे दीघा के जरिए कलईकुंड पहुंचेंगे और वहां से दिल्ली के लिए उड़ान भरेंगे.'

यह भी पढ़ें: PM मोदी यास से हुए नुकसान का जायजा लेने ओडिशा रवाना, ममता भी करेंगी एरियल सर्वे

उन्होंने जानकारी दी, 'हम कलईकुंड में यास पर एक छोटी समीक्षा बैठक करेंगे.' सीएम बनर्जी और राज्य के मुख्य सचिव अलापन बंदोपाध्याय शुक्रवार को नॉर्थ 24 परगना और साउथ 24 परगना के प्रभावित इलाकों का हवाई दौरे का कार्यक्रम तय है. इसके बाद वे सागर जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करेंगी. बाद में वे पूर्व मेदिनिपुर में दीघा के लिए रवाना होंगी. पूर्व मेदिनिपुर हवाई दौरा करने के बाद वे दीघा में जिला समीक्षा बैठक करेंगी और 29 मई को कोलकाता वापसी करेंगी.


सीएम बनर्जी ने गुरुवार को कहा था कि तूफान यास के चलते राज्य को 15 हजार करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. साथ ही उन्होंने प्रभावित लोगों के राहत कार्य के लिए अगले महीने से योजना की घोषणा की है. बनर्जी ने प्रभावित इलाकों में राहत कार्य के लिए एक हजार करोड़ रुपये आवंटित किए हैं. उन्होंने कहा है कि जरूरत पड़ने पर और भी फंड जारी किया जाएगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज