कुंभ मेले में कोरोना टेस्ट में हुए फर्जीवाड़े को रामदेव ने बताया मेडिकल टेररिज्म, कही ये बात

रामदेव ने कहा, जो लोग इसमें शामिल हैं, उन्हें कठोर से कठोर दंड मिलना चाहिए.

रामदेव ने कथित कोविड घोटाले पर कहा, 'जिसने भी इस तरह की गलती की है, उसको सजा अवश्य मिलनी चाहिए, साथ ही गलतियां दोहराई न जाए ये भी जिम्मेदारी लेनी चाहिए.'

  • Share this:
    नई दिल्ली. पिछले दिनों उत्तराखंड के हरिद्वार में आयोजित कुंभ मेले के दौरान कोरोना टेस्टिंग घोटाले पर योग गुरु रामदेव (Yoga Guru Ramdev) की प्रतिक्रिया सामने आई है. रामदेव ने इस पूरे फर्जीवाड़े को मेडिकल टेररिज्म करार दिया है. रामदेव ने मांग की है कुंभ (Haridwar kumbh mela) में कोरोना टेस्टिंग में फर्जीवाड़ा करने वालों को सजा मिलनी चाहिए. बता दें कि उत्तराखंड के हरिद्वार में कुंभ मेले का आयोजन किया गया था, जिसमें कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट ले जाना अनिवार्य था. हालांकि, बाद में यह सामने आया था कि एक लाख कोरोना टेस्ट फर्जी थे.

    इंडिया टुडे से बातचीत के दौरान रामदेव ने कथित कोविड घोटाले पर कहा, 'जिसने भी इस तरह की गलती की है, उसको सजा अवश्य मिलनी चाहिए, साथ ही गलतियां दोहराई न जाए ये भी जिम्मेदारी लेनी चाहिए. उन्होंने आगे कहा कि ऐसे लोगों के खिलाफ आपराधिक मुकदमा. रामदेव ने कहा, जब मैंने पहली बार मेडिकल टेररिज्म, मेडिकल अनार्की जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया था तो लोगों ने कहा यह क्या कह रहे हैं? जो लोग इसमें शामिल हैं, उन्हें कठोर से कठोर दंड मिलना चाहिए. उन्होंने मानवता को शर्मसार किया है और ऐसे में उन्हें बख्शा नहीं जाना चाहिए.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.