Home /News /nation /

माइग्रेन जैसी बीमारी को ठीक कर सकता है योग-मेडिटेशन, दुनिया की एक बड़ी आबादी है पीड़ित

माइग्रेन जैसी बीमारी को ठीक कर सकता है योग-मेडिटेशन, दुनिया की एक बड़ी आबादी है पीड़ित

माइग्रेन जैसी बीमारी को ठीक कर सकता है योग-मेडिटेशन (news 18)

माइग्रेन जैसी बीमारी को ठीक कर सकता है योग-मेडिटेशन (news 18)

माइग्रेन (migraine) को दुनिया की ऐसी सामान्य बीमारियों में गिना जाता है, जिसका शिकार होने वालों की संख्या लाखों या करोड़ों मे नहीं है. माना जाता है कि पूरी दुनिया में करीब एक अरब लोग किसी न किसी तरह के माइग्रेन से पीड़ित रहते हैं. अब जर्नल ऑफ अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन (JAMA) में छपी एक स्टडी में दावा किया गया है कि योग (yoga) और मेडिटेशन (meditation) से माइग्रेन का इलाज संभव है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. वैज्ञानिकों का अब ये मानना है कि दुनिया में सबसे सामान्य, लेकिन कष्टदायक बीमारियों में से एक माइग्रेन या सिरदर्द का इलाज बिना किसी दवा के ही संभव हो सकता है. इसके लिए भारत में परंपरा से चले आ रहे योग और मेडिटेशन का सहारा लिया जाता है. जर्नल ऑफ अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन (JAMA) में छपी एक स्टडी में दावा किया गया है कि योग और मेडिटेशन से माइग्रेन का इलाज संभव है. एक रिसर्च में कहा गया है कि इस रोग से परेशान लोगों की संख्या लाखों या करोड़ों में नहीं है. बल्कि पूरी दुनिया में करीब एक अरब लोगों को माइग्रेन की बीमारी ने परेशान कर रखा है.

JAMA में प्रकाशित शोध में दावा किया गया है कि अगर माइग्रेन के शिकार लोग लगातार नियमित तौर से योग और मेडिटेशन का अभ्यास करें तो उनको सिरदर्द से काफी हद तक आराम मिल सकता है. सबसे रोचक बात है कि माइग्रेन का सबसे ज्यादा शिकार 18 से 45 साल के व्यक्ति होते हैं. इनमें सबसे बड़ी संख्या महिलाओं की होती है. माइग्रेन का शिकार होने वालों में महिलाओं की संख्या करीब 85 फीसद है. इसका साफ मतलब है कि माइग्रेन से पीड़ित होने वालों की बहुसंख्या युवा महिलाओं की है. युवा महिलाएं कई कारणों से अपनी हेल्थ को लेकर जागरूक नहीं होती हैं और इसका खामियाजा उनको भुगतना पड़ता है.

स्टडी में सामने आए सबसे रोचक फैक्ट्स में से ये भी एक है कि ज्यादातर लोगों में माइग्रेन का रोग जेनेटिकली ही ट्रांसफर होता है. इस शोध में लोगों को दो ग्रुप्स में बांट दिया गया था. पहले समूह में शामिल लोगों को योग और मेडिटेशन की पूरी ट्रेनिंग दी गई और उनको नियमित रूप से घर पर प्रैक्टिस करने के लिए कहा गया. दूसरे समूह को माइग्रेन के बारे में पूरी जानकारी दी गई, लेकिन उनको योग और मेडिटेशन के बारे में कुछ भी नहीं बताया गया. ये पाया गया कि पहले समूह के लोगों में सिरदर्द की शिकायत काफी हद तक खत्म हो गई थी.

Tags: Benefits of yoga, Yoga, Yoga Break, Yogasan

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर