यूपी में 1975 रुपए क्विंटल की दर से होगी गेहूं की खरीद, योगी सरकार ने 50 रुपए बढ़ाया MSP

UP News: यूपी में गेहूं की MSP में सरकार ने 50 रुपए की वृद्धि की है.. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

UP News: यूपी में गेहूं की MSP में सरकार ने 50 रुपए की वृद्धि की है.. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने रबी की फसल की एमएसएपी में पचास रुपए कुंतन की वृद्धि करने की घोषणा कर दी है. इसके साथ ही प्रदेश में गेहूं की खरीदी अब 1975 रुपए प्रति कुंतल हो जाएगी. इस वृद्धि का फायदा प्रदेश के लाखों किसानों को मिलेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 29, 2021, 11:06 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. केन्द्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानून के खिलाफ किसानों के आंदोलन के बीच उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार किसानों को राहत देने को लेकर सक्रिय हो गई है. उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने रबी की फसल की एमएसएपी में पचास रुपए कुंतल की वृद्धि करने की घोषणा कर दी है. इसके साथ ही प्रदेश में गेहूं की खरीदी अब 1975 रुपए प्रति कुंतल हो जाएगी. इस वृद्धि का फायदा प्रदेश के लाखों किसानों को मिलेगा. यह फैसला उस समय किया गया है, जब किसान एमएसपी कानून बनाने के साथ केन्द्र द्वारा लागू किए गए कृषि कानून को रद्द करने की मांग को लेकर आन्दोलन कर रहे हैं.

उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से जारी आदेश के अनुसार उत्तर प्रदेश में रबी की फसल के लिए गेहूं की खरीदी के लिए एमएसपी 1975 रुपए कर दिया गया है. उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक गेहूं की पैदावार होती है. इस बढ़ी हुई दर का फायदा लाखों किसानों को मिलेगा.

एमएसपी बढ़ाने की बात कह चुकी है सरकार



गेहूं समेत 6 रबी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) बढ़ाने की घोषणा पहले ही कर दी गई थी. एमएसपी को लेकर केन्द्र की मोदी सरकार किसानों को आश्वस्त करना चाहती है. कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने लोकसभा में पहले ही कह चुके हैं कि गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य 50 रुपये बढ़ाकर 1,975 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडल समिति (सीसीईए) की बैठक में इस वृद्धि का निर्णय लिया गया था.

किसानों को मिलेगा बड़ा फायदा



योगी आदित्यनाथ सरकार का यह फैसला उत्तर प्रदेश के किसानों को बड़ा फायदा देगा. बीते साल हुई खरीद से इस बार एमएसपी को 50 रुपए बढ़ाकर योगी सरकार किसानों को प्रभावित करना चाहती है. यह इसलिए क्योंकि किसानों की सबसे बड़ी मांग एमएसपी की है. किसान इस समय कृषि कानून के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं. ऐसे में योगी सरकार उत्तर प्रदेश के किसानों को किसान हितैषी होने का मैसेज देना चाहती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज