Home /News /nation /

वैक्सीन की दूसरी खुराक में पिछड़ने पर यूपी को केंद्र का खत, राज्य सरकार ने गांवों के लिए बनाई खास रणनीति

वैक्सीन की दूसरी खुराक में पिछड़ने पर यूपी को केंद्र का खत, राज्य सरकार ने गांवों के लिए बनाई खास रणनीति

दूसरी खुराक के मामले में राज्य सरकार का प्रदर्शन देश में सबसे खराब है. (फाइल फोटो)

दूसरी खुराक के मामले में राज्य सरकार का प्रदर्शन देश में सबसे खराब है. (फाइल फोटो)

जिलाधिकारियों (District Magistrates) को राज्य सरकार द्वारा लिखे पत्र में कहा गया है कि प्रदेश में पहली खुराक (Covid-19 Vaccine First Dose) के शेष लक्ष्य को पूरा करने के लिए अब ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष ध्यान देने की जरूरत है. इसके लिए सरकारी लेखपाल उन सभी लोगों की पहचान करेंगे जिन्हें वैक्सीन (Corona Vaccine) की पहली डोज लग चुकी है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली: देश को कोरोना महामारी (Corona Pandemic) से छुटकारा दिलाने के लिए तेजी से वैक्सीनेशन अभियान (Vaccination Campaign) चलाया जा रहा है. भारत ने कुछ दिन पहले ही कोरोना वैक्सीनेशन के 100 करोड़ के आंकड़े को पार किया है. उत्तर प्रदेश वैक्सीनेशन अभियान में सबसे आगे रहा है. पूरे देश में कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की पहली डोज सबसे अधिक लोगों को यूपी में दी गई. लेकिन हैरानी की बात यह है कि वैक्सीनेशन के दूसरे चरण यानी दूसरी खुराक (Covid-19 Second Dose) में प्रदेश की रफ्तार कुंद पड़ गई. दूसरी खुराक में पीछे होने के बाद केंद्र सरकार ने अब राज्य सरकार को पत्र लिखा है. केंद्र ने राज्य को वैक्सीन की दूसरी खुराक में तेजी लाने के लिए कहा है. केंद्र के पत्र के बाद अब योगी सरकार (Yogi Government) वैक्सीनेशन की रणनीति को बदलने जा रही है.

योगी सरकार अब वैक्सीनेशन के लिए अब गांवो पर अधिक ध्यान दे रही है और सरकार ने राज्यभर के गांवों को तीन श्रेणियों में बांटने का फैसला लिया है. न्यूज18 ने राज्य सरकार के उस पत्र को देखा है जिसमें सभी जिलाधिकारियों को वैक्सीनेशन के लिए नई रणनीति अपनाने के लिए कहा गया है. सरकार की इस नई रणनीति को क्लस्टर मॉडल 2.0 कहा जा रहा है. सरकार इसे 1 नवंबर से पूरे राज्य में लागू कर देगी.

पहली खुराक में देश में नंबर वन राज्य
बता दें कि यूपी पूरे देश में इस समय 12.5 करोड़ वैक्सीनेशन के साथ पहले नंबर पर है. अब तक दी गई वैक्सीन की खुराक में लगभग 65 प्रतिशत संख्या पहली खुराक पाने वालों की है. हालांकि दूसरी खुराक में प्रदेश की रफ्तार काफी कम रही है. अब तक मात्र 20 प्रतिशत लोगों को ही वैक्सीन की दूसरी खुराक मिल सकी है. दूसरी खुराक के मामले में राज्य सरकार का प्रदर्शन देश में सबसे खराब है.

लेखपाल तैयार करेंगे डेटा
जिलाधिकारियों को राज्य सरकार द्वारा लिखे पत्र में कहा गया है कि प्रदेश में पहली खुराक के शेष लक्ष्य को पूरा करने के लिए अब ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष ध्यान देने की जरूरत है. इसके लिए सरकारी लेखपाल उन सभी लोगों की पहचान करेंगे जिन्हें वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है. लेखपाल के डेटा के अनुसार गांवों को तीन भागों में बाटा जाएगा जिसमें जिसमें पहला- जहां 95 प्रतिशत लोगों को पहली खुराक लग चुकी है, दूसरा- जहां 80-90 प्रतिशत लोगों को वैक्सीन लग चुकी और तीसरी श्रेणी वह होगी जिन गांवों में 80 प्रतिशत से कम लोगों को पहली खुराक लगी होगी.

टॉस्क फोर्स का किया जाएगा गठन
इस डेटा के आधार पर ही आगे के टीकाकरण अभियान को प्राथमिकता दी जाएगी. 95 प्रतिशत और 80-95 प्रतिशत वैक्सीन की पहली खुराक पाने वाले गांवों को टीके की पहली खुराक देने की कोशिश रहेगी और यहां वैक्सीनेशन की पहली खुराक के 100 प्रतिशत लक्ष्य को पूरा कर लेने के बाद गांव के प्रधान को सम्मानित किया जाएगा. पत्र में कहा गया है कि जहां 80 प्रतिशत से कम वैक्सीनेशन हुआ है उन गांवों के लिए एक ब्लॉक स्तर पर टास्क फोर्स का गठन किया जाए और वैक्सीनेशन को अभियान को आगे बढ़ाया जाए.

Tags: Corona vaccine, Covid-19 Crisis, Covid-19 vaccination campaign, Yogi government

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर