अधीर रंजन चौधरी ने पीएम मोदी से कहा- सोनिया-राहुल को चोर बताकर सत्ता में आए तो वे संसद में कैसे बैठे हैं

अधीर रंजन चौधरी ने पीएम मोदी से कहा- सोनिया-राहुल को चोर बताकर सत्ता में आए तो वे संसद में कैसे बैठे हैं
लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर विवादित बयान दिया.

लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर विवादित बयान दिया.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि क्या आप 2जी और कोयला घोटाले में किसी को पकड़ पाए? क्या आप सोनिया गांधी जी और राहुल गांधी जी को सलाखों के पीछे भेज  पाए? आप उन्हें चोर बताकर सरकार में आए थे, फिर वह संसद में कैसे बैठे हुए हैं?'

इतना ही नहीं चौधरी ने मांग की है कि विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को सम्मानित किया जाए. इसके साथ ही उनकी मूछों को राष्ट्रीय मूंछ घोषित किया जाए.

पीएम मोदी पर की विवादित टिप्पणी
लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर विवादित बयान दिया. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ‘बड़े सेल्समैन’ हैं जो इस चुनाव में अपने उत्पाद को बेचने में सफल रहे, जबकि कांग्रेस अपना उत्पाद बेचने में विफल रही.



राष्ट्रपति के अभिभाषण पर लोकसभा में धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा में भाग लेते हुए चौधरी ने यह भी आरोप लगाया कि एनडीए सरकार को अपनी प्रशंसा सुनने का नशा है और वह अतीत की कांग्रेस सरकारों की उपलब्धियों को स्वीकार नहीं करना चाहती है.



प्रताप सारंगी की उपमा पर जताई आपत्ति
उन्होंने प्रताप सारंगी की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा में स्वामी विवेकानंद की उपमा दिए जाने पर आपत्ति जताई. इसको लेकर सत्ता पक्ष और विपक्षी सदस्यों के बीच नोकझोंक की स्थिति उत्पन्न हो गई. इस पर पीठासीन सभापति राजेंद्र अग्रवाल ने कहा कि जो शब्द असंसदीय होगा वह रिकॉर्ड में नहीं जाएगा. इसके अलावा चौधरी ने कहा कि अभिभाषण में इतिहास को तोड़मरोड़कर पेश किया गया है और तथ्यों के साथ छेड़छाड़ की गई है.

आजादी के बाद रक्षा, अर्थव्यवस्था, प्रौद्योगिकी और विभिन्न क्षेत्रों में देश की उपलब्धियों के बारे में बात करते हुए चौधरी ने कहा कि अगर सरकार अभिभाषण में देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का भी जिक्र करती तो यह साबित होता कि वह ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ के कथन को मानती है.

एनडीए सरकार को बताया ऊंची दुकान-फीका पकवान
चौधरी ने कहा कि यूपीए सरकार के समय आर्थिक विकास की दर आठ फीसदी से ज्यादा थी, जबकि इस सरकार में विकास दर छह फीसदी से नीचे आ गई और बेरोजगारी भी 45 वर्षों के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है. उन्होंने कहा, 'एनडीए सरकार की नई पहचान, ऊंची दुकान और फीका पकवान.'

उन्होंने भाजपा के कुछ नेताओं के विवादित बयानों का हवाला दिया और कहा कि एक तरफ सरकार महात्मा गांधी का 150वां जन्मदिवस मनाने की बात कर रही है, दूसरी तरफ भाजपा के कुछ लोग बापू के हत्यारे गोडसे की तारीफ करते हैं. यह कैसा दोहरा मापदंड है?

ये भी पढ़ें-

इस्तीफा देने पर अड़े राहुल, कांग्रेस ने सस्पेंड की सभी राज्यों की कमिटियां

देश-विदेश में कहां कितना छुपा है काला धन, जल्द संसद में जारी होगी रिपोर्ट
First published: June 24, 2019, 3:32 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading