Home /News /nation /

Zojila tunnel: ट्यूब की खुदाई का काम आज हुआ पूरा, पानी रिसने की वजह से था चैलेंजिंग

Zojila tunnel: ट्यूब की खुदाई का काम आज हुआ पूरा, पानी रिसने की वजह से था चैलेंजिंग

परियोजना की कुल लंबाई 32 किलोमीटर है और इसे दो भागों में बांटा गया है

परियोजना की कुल लंबाई 32 किलोमीटर है और इसे दो भागों में बांटा गया है

Road Transport news: Jammu and Kashmir से Leh Ladakh तक All Weather Road के लिए बनाई जा रही जेड मोड टनल की ट्यूब 2 की खुदाई का काम सोमवार को पूरा हो गया. इसका काम अक्‍तूबर 2020 में शुरू हुआ था. परियोजना की कुल लंबाई 32 किलोमीटर है और इसे दो भागों में बांटा गया है. 2024 तक रोड तैयार करने की योजना है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. जम्‍मू -कश्‍मीर (Jammu and Kashmir) से लेह लद्दाख तक ऑल वेदर रोड (All Weather Road) के लिए बनाई जा रही जेड मोड टनल की ट्यूब 2 की खुदाई का काम सोमवार को पूरा हो गया. इसका काम अक्‍तूबर 2020 में शुरू हुआ था. परियोजना की कुल लंबाई 32 किलोमीटर है और इसे दो भागों में बांटा गया है. इसका निर्माण मेघा इंजीनियरिंग एंड इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एमईआईएल) द्वारा किया जा रहा है. आल वेदर रोड 2024 तक शुरू करने की योजना है.

    परियोजना का पहला भााग 18 किलोमीटर सोनमर्ग और तलताल को जोड़ता है, जिसमें प्रमुख पुल और दो टनल हैं. टनल टी 1, जिसमें दो ट्यूब हैं, ट्यूब 1 को दिवाली के अवसर पर 4 नवंबर को और दूसरी ट्यूब को सोमवार की दोपहर में खुदाई का काम पूरा कर ल‍िया गया. एमईआईएल ने मई 2021 में एक्सेस रोड के निर्माण के बाद परियोजना का काम शुरू कर दिया है. पहाड़ों में सुरंग बनाना हमेशा एक कठिन काम होता है, लेकिन एमईआईएल ने एक समय सीमा के भीतर सुरक्षा, गुणवत्ता और गति के उच्चतम मानकों के साथ दोनों टनल को तैयार किया है. खुदाई के दौरान पानी रिसने का काम चैलेंजिंग था.

    मौजूदा समय 2 किमी की लंबाई वाली ट्यूब की खुदाई का काम जोरों पर है, अप्रैल 2022 खुदाई पूरी कर ली जाएगी. 13.3 किलोमीटर लंबी जोजिला मेन टनल का काम भी जोरों पर है. एमईआईएएल ने लद्दाख से 600 मीटर आगे और कश्मीर की तरफ से 300 मीटर काम पूरा कर लिया है.

    चार देशों के अध्‍ययन के बाद शुरू हुआ काम 

    उन्‍होंने बताया कि इसके निर्माण से पहले नार्वे, स्‍वीडन, इटली और फ्रांस में बनी सुरंगों का अध्‍ययन किया गया है. इसके लिए देश से टीमें इन देशों में गईं और वहां पर रहकर अध्‍ययन किया. उनकी तकनीक को समझा. इसके बाद काम शुरू हुआ है.

    गडकरी से स्‍वयं तैयार की रिपोर्ट

    इस सुरंग की खास बात यह है कि इसकी टेक्‍नीकिल और फाइनेंशियल रिपोर्ट सड़क परिवहन मंत्री ने स्‍वयं तैयार की है. उन्‍होंने बताया कि रिपेार्ट बनाने के लिए कई दिनों तक देर रात तक जगना पड़ा था, क्‍योंकि दिन में मंत्रालय के और बहुत काम होते हैं.

    टनल बनाने में मलबे का इस्‍तेमाल

    सुरंग बनाने में मलबे का इस्‍तेमाल किया जा रहा है. उन्‍होंने बताया कि खुदाई के दौरान निकलने वाले पत्‍थरों से ही रेत, कंक्रीट बनाकर बनाया जा रहा है,  इसके लिए सुरंग के पास प्‍लांट भी बनाए हैं.

    सुरक्षा के  पुख्‍ता इंतजाम

    सड़क परिवहन मंत्री ने बताया कि जोलिला सुरंग में सुरक्षा का पूरा ध्‍यान रखा जा रहा है. जगह-जगह फायर फाइटिंग सिंस्‍टम लगाए जाएंगे, जिससे किसी वाहन में आग लगने पर स्‍वयं अलार्म बज जाएंगे. इमरजेंसी के लिए  फोन लगाए जाएंगे. जगह जगह सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे. इसके अलावा मोनिटर करने के लिए कंट्रोल रूम भी बनाया जाएगा.

    Tags: Jammu kashmir, Road and Transport Ministry

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर