अपना शहर चुनें

States

रोक के बाद सुरक्षा कमियों को दूर करने को तैयार Zoom, भारत सरकार के साथ कर रहा काम

अगर 30 मई तक नहीं किया Zoom ऐप अपडेट, तो 30 करोड़ यूजर्स को झेलनी पड़ेगी ये दिक्कत
अगर 30 मई तक नहीं किया Zoom ऐप अपडेट, तो 30 करोड़ यूजर्स को झेलनी पड़ेगी ये दिक्कत

जू़म ऐप (Zoom App) ने कहा है कि उनका वीडियो मीटिंग प्लेटफॉर्म (Video Meeting Platform) पिछले दिसंबर के 1 करोड़ के मुकाबले मार्च में 20 करोड़ यूजर्स (users) तक पहुंच गया था. कंपनी ने कहा है कि उनका ऐप बड़ी कंपनियों, उद्योगों, शिक्षण संस्थाओं और सरकारों के लिए बना है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 20, 2020, 5:53 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जू़म ऐप (Zoom App) आजकल पहेली बना हुआ है. यह बहुत ज्यादा लोकप्रिय है और फिर भी यह प्राइवेसी (Privacy) से जुड़े खतरों के चलते चर्चा में रहा है. यह एक वीडियो मीटिंग ऐप (Video Meeting App) है. अब कंपनी ने कंफर्म किया है कि वह गृह मंत्रालय ((Home Ministry) के सभी सरकारी मीटिंगों के लिए जू़म ऐप पर रोक लगाए जाने के बाद सुरक्षा के मुद्दों पर भारत सरकार के साथ काम कर रही है.

जू़म (Zoom) के मुख्य सूचना अधिकारी (Chief Information Officer) हैरी मोसेले ने यह कंफर्म किया है कि कंपनी आगे से सुरक्षित वीडियो कॉल्स (Video Calls) के लिए पूरी तरह से इन्क्रिप्टेड (end-to-end encryption) तरीके को लागू करने पर भी काम कर रही है.

सरकारी मीटिंगों के लिए लगी थी ज़ूम के प्रयोग पर रोक, जारी की गई थी एडवाइजरी
इससे पहले, सरकार ने न सिर्फ अपनी वीडियो मीटिंग्स के लिए जू़म के प्रयोग पर रोक लगा दी थी बल्कि एक एडवाइजरी भी जारी की थी, जिसमें कंफर्म किया गया था कि जू़म पर की जा रही व्यक्तिगत और पेशेवर वीडियो चैट सुरक्षित नहीं हैं. भारत सरकार के साइबर कॉर्डिनेशन सेंटर या साइकॉर्ड (CyCord), और इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (CERT-in) ने एडवाइजरी जारी की थी. जू़म अब अपना पूरा ध्यान ऐप में सुरक्षा विशेषताओं (security features) को बढ़ाने में लगा रही है. मोसेले ने यह बात न्यूज18 से एक बातचीत में कही. उन्होंने कहा कि पूरी इंजीनियरिंग टीम अब ऐप में सिक्योरिटी कंट्रोल को बढ़ाने पर काम कर रही है.
25 देशों में 90 हजार से ज्यादा स्कूल कर रहे हैं ज़ूम ऐप का इस्तेमाल


जू़म ने कहा है कि उनका वीडियो मीटिंग प्लेटफॉर्म (Video Meeting Platform) को पिछले दिसंबर के 1 करोड़ के मुकाबले मार्च में 20 करोड़ यूजर्स तक पहुंच गई थी. कंपनी ने कहा है कि उनका ऐप बड़ी कंपनियों, उद्योगों, शिक्षण संस्थाओं और सरकारों के लिए बना है. वे यह भी दावा करते हैं कि 25 देशों में 90 हजार से ज्यादा स्कूल (School) जू़म ऐप का इस्तेमाल कर रहे हैं. मोसेले इस बात पर जोर देते हैं कि जू़म में हमेशा से सिक्योरिटी विशेषताएं और नियंत्रण था और वे केवल उन्हें अब और अच्छे स्तर का बनाने का प्रयास कर रहे हैं. साथ ही वे वीडियो मीटिंग एडमिनिस्ट्रेटर्स को और ज्यादा नियंत्रित उपलब्ध करा रहे हैं.

यह भी पढ़ें: -Lockdown- इसलिए ज़ूम ऐप पर क्लास और मीटिंग के दौरान बढ़ जाता है हैकर का खतरा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज