लाइव टीवी

महाराष्ट्र महा-ड्रामे के क्लाइमेक्स पर शशि थरूर ने कहा ये शब्द, ट्विटर पर चर्चा

News18Hindi
Updated: November 27, 2019, 3:04 PM IST
महाराष्ट्र महा-ड्रामे के क्लाइमेक्स पर शशि थरूर ने कहा ये शब्द, ट्विटर पर चर्चा
शशि थरूर केरल के तिरुवनंतपुरम से सांसद हैं

केरल के तिरुवनंतपुरम से कांग्रेस सांसद शशि थरूर (Shahsi Tharoor) अंग्रेजी के कठिन शब्दों के इस्तेमाल के लिए जाने जाते हैं. वह अक्सर ट्विटर पर अंग्रेजी के नए-नए शब्दों का प्रयोग करते हैं. महाराष्ट्र के सियासी घमासान को थरूर ने zugzwang शब्द से परिभाषित किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 27, 2019, 3:04 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. महाराष्ट्र की सत्ता को लेकर पिछले कुछ दिनों से चल रहा घमासान मंगलवार को नाटकीय तरीके से खत्म हो गया. देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) और अजित पवार (Ajit Pawar) के फ्लोर टेस्ट से पहले ही इस्तीफा देने के बाद अब शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस गठबंधन सरकार का रास्ता साफ हो गया है. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) गुरुवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. महाराष्ट्र में सत्ता के लिए खींचतान को कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने अपने अंदाज में व्यक्त किया है.

केरल के तिरुवनंतपुरम से कांग्रेस सांसद शशि थरूर (Shahsi Tharoor) अंग्रेजी के कठिन शब्दों के इस्तेमाल के लिए जाने जाते हैं. वह अक्सर ट्विटर पर अंग्रेजी के नए-नए शब्दों का प्रयोग करते हैं. महाराष्ट्र के सियासी घमासान को थरूर ने zugzwang शब्द से परिभाषित किया है. zugzwang (ज़ग्जवांग) शब्द का अर्थ चेस (chess) या ऐसे किसी गेम से है, जिसमें एक खिलाड़ी आगे बढ़ने और बाज़ी जीतने के लिए दूसरे को कमजोर स्थिति में डालने की कोशिश करता है.' शशि थरूर के मुताबिक, इस शब्द का इस्तेमाल सबसे पहले 1845 में किया गया था.

rahul sonia
राहुल गांधी के साथ सोनिया गांधी


इसके पहले थरूर ने 23 नवंबर को महाराष्ट्र में रातोंरात बदले राजनीतिक समीकरण के बाद 'स्नोलीगोस्टर' शब्द का इस्तेमाल कर अजित पवार पर निशान साधा था. आमतौर पर इस शब्द का मतलब होता है 'बिना सिद्धांतों का राजनेता'. ये दोनों शब्द ट्विटर पर खूब वायरल हो रहे हैं.


Loading...

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद बीजेपी ने छोड़ा मैदान
मंगलवार की सुबह सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद महाराष्ट्र में सियासी खेल एकदम से पलट गया. सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को निर्देश दिया कि वह बुधवार को शाम 5 बजे तक विधानसभा में अपना बहुमत साबित करें. कोर्ट ने कहा कि बहुमत परीक्षण में देरी होने से ‘खरीद फरोख्त’ की आशंका है. वहीं, बहुमत साबित करने को लेकर विधायकों को एकजुट करने की कोशिशों के बीच अजित पवार ने उप-मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया. जिसके बाद देवेंद्र फडणवीस ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने की घोषणा कर दी. फडणवीस ने कहा कि अजित पवार के अपने पद से इस्तीफा देने के बाद उनके पास संख्या बल नहीं रह गया है.

यह भी पढ़ें :

उद्धव ठाकरे कल लेंगे सीएम पद की शपथ, आज राज्यपाल ने बुलाया विधानसभा का विशेष सत्र
चाचा शरद जैसा कारनामा करने की फिराक में थे अजित पवार, उलटे पड़ गए पासे
54 नंबर के चलते पवार नहीं बन पाए थे किंग लेकिन आज इसी ने उन्हें बनाया किंगमेकर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2019, 2:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...